Sat. Jan 25th, 2020

अनोखी पहल! उप्र में एक सड़क, एक पेड़ सिद्धांत

लखनऊ, 13 जनवरी (एजेंसी)। पौधरोपण के मामले में उत्तर प्रदेश अब सुंदर प्रदेश में बदल जाएगा। प्रदेश सरकार ने एक सड़क एक पेड़ के सिद्धांत का पालन करने का निर्णय लिया है जिससे पेड़ के बड़े होकर अपने आकार में आने पर न सिर्फ प्राकृतिक सुंदरता बढ़ेगी बल्कि यह लोगों के लिए सड़क मार्ग का काम भी करेगा। अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक प्रभाकर दुबे ने कहा कि जहां शहरी विकास विभाग पौधरोपण कर उनकी देखभाल करेगा वहीं योजना की जिम्मेदारी वन विभाग पर है जिसमें उसे वृक्षों की प्रजाति तय करना,उन्हें नर्सरी में उगाने और उन्हें शहरी विकास विभाग को सुपुर्द करना होगा। उन्होंने कहा कि इसकी योजना बनाई जा रही है लेकिन यह इस साल मॉनसून से लागू कर दी जाएगी। एक सड़क एक पेड़ सिद्धांत कई शहरों में उपयोग किया गया है जिसमें एक सड़क या गली में किसी फूल वाली प्रजाति के पेड़ों को रोपा जाता है। इसके बाद उसके पत्ते या फूल से क्षेत्र की पहचान की जाती है।