September 28, 2020

अब पोलो की दिल्ली मेट्रो में होगी तैनाती

लादेन का पता लगाने में इस नस्ल के डॉग ने की थी मदद

नई दिल्ली, 3 ,ितम्बर (एजेंसी)। दिल्ली मेट्रो 7 सितंबर से एक बार फिर अपने ट्रैक पर होगी। कोरोना से बचाव और मेट्रो के सुरक्षित संचालन के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने शहरी विकास मंत्रालय के साथ मिलकर एसओपी तैयार की है। इसमें सबसे अहम फैसले क्राउड मैनेजमेंट को लेकर लिए गए हैं। यही नहीं जानकारी के अनुसार अब दिल्ली मेट्रो में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल को अपग्रेड किए जाने की तैयारी भी की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विशेष कौशल के साथ पोलो नाम का एक फुर्तीला बेल्जियन मैलिनोइस डॉग अब दिल्ली मेट्रो में सीआईएसएफ के साथ यात्रियों की सुरक्षा में तैनात रहेगा। दिल्ली मेट्रो पर जल्द ही दिखने वाला यह डॉग पोलो साधारण नहीं है। यह डॉग उसी नस्ल का है जिसने ओसामा बिन लादेन को खत्म करने के लिए पाकिस्तान में अमेरिकी सुरक्षा बलों द्वारा शुरू किए गए ऑपरेशन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसी नस्ल के डॉग काहिरा ने ऑपरेशन के दौरान ओसामा बिन लादेन की पहचान की थी। यह पहला मौका होगा जब राष्ट्रीय राजधानी में बेल्जियन मैलिनोइस नस्ल के डॉग को तैनात किया जाएगा।

संख्या अधिक होने पर ट्रेन से बाहर निकाले जाएंगे यात्री
डीएमआरसी और सीआईएसएफ ने भीड़ नियंत्रण के लिए 1000 से अधिक अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की है। इसमें कुछ सुरक्षा कर्मियों की जिम्मेदारी सिर्फ इतनी होगी कि वह मेट्रो कोच के भीतर यात्रियों की निर्धारित की संख्या को बरकरार रखें। मेट्रो सुरक्षा से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, यदि किसी कोच में यात्रियों की संख्या अधिक पाई जाती है तो अगले स्टेशन पर उन्हें उतार दिया जाएगा। इसके अलावा ट्रेन ऑपरेटर को भी यह कहा गया है कि वह सीसीटीवी कैमरों के जरिये ट्रेन के सभी कोचों में अपनी निगाह बनाए रखें।