September 20, 2020

अब बस के जरिये दिल्ली से लंदन का सफर होगा

गुरुग्राम, 24 अगस्त ( एजेंसी)। हवाई जहाज से बहुत से लोगों ने भारत से इंग्लैंड का सफर किया होगा, लेकिन क्या आपने कभी बस से लंदन के सफर की कल्पना की है?। अब यह कल्पना हकीकत बन सकती है। आप बस से लंदन तक की यात्रा कर सकते हैं। इसके लिए 15 लाख रुपये का टिकट खरीदना होगा। यह सुविधा गुरुग्राम की निजी पर्यटन कंपनी एडवेंचर्स ओवरलैंड उपलब्ध करा रही है। कंपनी ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। दिल्ली से अगले साल मई महीने में 20 सीटों वाली अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस बस लंदन के लिए रवाना होगी और लंदन से अगस्त में वापस लौटेगी। पूरी यात्रा लगभग 20 हजार किलोमीटर की होगी।

यात्रा होगी 70 दिन की
लंदन जाने के दौरान यात्री म्यांमार, थाईलैंड, लाओस, चीन, किर्गिस्तान, उज्बेकिस्तान, कजाकिस्तान, रूस, लातविया, लिथुआनिया, पोलैंड, चेक गणराज्य, जर्मनी, नीदरलैंड, बेल्जियम और फ्रांस से गुजरेंगे। 70 दिन की यात्रा होगी। इसमें से 25 दिन यात्री आराम करेंगे। एडवेंचर्स ओवरलैंड के संस्थापक तुषार अग्रवाल और संजय मदान ने बताया कि बस में 20 यात्रियों के अलावा एक चालक, एक सहायक चालक, एक गाइड एवं एक सहायक होगा। कुछ अंतराल के बाद गाइड बदल जाएगा। जिस देश में बस पहुंचेगी उस देश का गाइड होगा। यात्रियों के लिए वीजा से लेकर ठहरने तक की व्यवस्था कंपनी द्वारा की जाएगी। बस लंदन तक चलेगी लेकिन जो यात्री सिर्फ रास्ते के किसी देश तक की ही यात्रा करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं। इसे ध्यान में रखकर यात्रा को चार भागों में बांटा जाएगा। दो महीने बाद बुकिंग शुरू की जा सकती है।

तीन साल से कंपनी करा रही है यात्रा
तुषार एवं संजय बताते हैं कि उनकी कंपनी तीन साल से यानी वर्ष 2017 से लंदन तक की यात्रा कारों से करा रही है। हर साल यात्रा के दौरान काफिले में 15 से 20 कारें शामिल होती थीं। कुछ यात्री खुद भी कार चलाते थे। कुछ महीने पहले उन्हें ख्याल आया कि क्यों न बस सेवा शुरू की जाए। इस बीच कोरोना संकट आ गया। कहीं भी आवाजाही बंद होने से सोचने व तैयारी करने का समय मिल गया। फिलहाल एक बस की व्यवस्था की गई है। 18 देशों की यात्रा करते हुए यात्री लंदन पहुंचेंगे। उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी कंपनी की होगी। यात्रा के दौरान यात्रियों को सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। चार सितारा एवं पांच सितारा होटलों में ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। यही नहीं सभी देशों में भारतीय भोजन भी उपलब्ध कराया जाएगा।