September 19, 2020

अब सड़क पर चलने वाले होंगे सुरक्षित

अक्टूबर से लागू हों नियम

दिनेश तिवारी
नई दिल्ली, 14 सितम्बर। ट्रांसपोर्ट व्हीकल को लेकर केंद्र की मोदी सरकार लगातार कदम उठा रही है। सड़क दुर्घटनाएं और इससे होने वाली मौतों को लेकर सरकार कितनी संवेदनशील है ये तो लोगों ने देखा ही है। मोटर वाहन संशोधन कानून लागू करने की बात हो या दुर्घटना संभावित क्षेत्रों यानी ब्लैक स्पॉट की पहचान कर तकनीकी खामी दूर करना हो,सरकार ने कई कारगर कदम उठाए हैं। केंद्र सरकार ने कुछ निश्चित क्षेत्रों का चयन किया है जहां अंतर्राष्ट्रीय मानक लागू होंगे। इसमें टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम शामिल है। इसको अक्टूबर 2020 से लागू किया जा है। हाल ही में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने वाहनों के डायमेंशन और वाहनों के कलपुर्जों के निर्माण से संबंधित मानकों को लेकर नोटिफिकेशन जारी किया है। इसी तरह दुपहिया वाहनों में साइड स्टैंड और फुट रेस्ट को लेकर भी नोटिफिकेशन जारी किया गया है। सरकार इन तमाम नोटिफिकेशनों को जल्द लागू करने जा रही है।

अब अंतरराष्ट्रीय मानक
यातायात परिवहन को अब और सुरक्षित बनाने के लिए मोदी सरकार अंतर्राष्ट्रीय पैमानों को लागू करने जा रही है। यातायात वाहनों में सेफ्टी और एमिशन (उत्सर्जन) को लेकर अंतर्राष्ट्रीय मानक जल्द लागू करने जा रही है। ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए विकसित देशों में जिस तरह के रेगुलेशन लागू हैं, सरकार वैसा ही रेगुलेशन भारत में भी लागू करना चाहती है। सरकार का मानना है कि इससे जीडीपी में भी बढ़ोतरी होगी।

सरकार ने उठाये हैं ये कदम
ऑटोमोबाइल सेक्टर ने सेफ्टी और उत्सर्जन को लेकर हाल ही में कई कदम उठाए है। वाहनों के इंजन को बी4 से बी6 में शिफ्ट किया गया। जिससे यूरो एमिशन नॉम्र्स को हासिल करने में मदद मिली। इस कदम से अमेरिका,जापान और यूरोप के कतार में भारत खड़ा हो पाया। यहीं नहीं यातायात वाहनों में सेफ्टी के मद्देनजर कई और महत्वपूर्ण नोटिफिकेशन जारी किए हैं। केंद्र सरकार ने हाल ही में एन्टी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम,एयर बैग्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम्स,रिवर्स पार्किंग असिस्ट, क्रेश स्टैण्डर्ड जैसे कई सेफ्टी पहलुओं को लेकर नोटिफिकेशन जारी किए गए हैं। इसके अलावा सड़क,परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय अगले दो सालों में इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल सिस्टम और ब्रेक असिस्ट सिस्टम के लिए मानकों को लागू करने को अंतिम रूप देने जा रही है।