September 23, 2020

आतंक से कनेक्शन में 150 कैदी तिहाड़ में

जल्द अबू यूसुफ भी पहुंचेगा

नई दिल्ली , 26 अगस्त (एजेंसी)। पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा पकड़े गए आईएस आतंकी मोहम्मद मुस्तकीम उर्फ अबू यूसुफ उर्फ यूसुफ खान भी जल्द तिहाड़ में पहुंचने वाला है। यहां पहले से ही 150 से अधिक आतंकवादी या आतंक के आरोप में लोग बंद हैं। आतंकवादी गतिविधियों में शामिल इन तमाम कथित आतंकवादियों को जेल में रखते हुए इस बात का खास खयाल रखा जाता है कि यह जेल के अन्य कैदियों को अपनी विचारधारा से प्रभावित ना कर पाएं। तिहाड़ में इस वक्त आईएस, इंडियन मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैबा समेत विभिन्न आतंकवादी संगठनों के आतंकी बंद हैं। इनमें इंडियन मुजाहीद्दीन का फाउंडर मेंबर यासीन भटकल भी है।
उसे 2013 में एनआईए ने भारत-नेपाल बॉर्डर से पकड़ा था। वह पुलिस से छिपने के लिए यूनानी डॉक्टर बन गया था। तिहाड़़ में भी इसने कुछ समय के लिए कथित रूप से यूनानी पद्धति से कैदियों और जेल स्टाफ का उपचार किया था। इस मामले की खबर छापने के बाद जेल में इसकी डॉक्टरी पर तुरंत रोक लगा दी गई थी। इसके बाद से जब भी यह तिहाड़ में बंद रहता है, तब-तब इसकी समय-समय पर जेल बदल दी जाती है, ताकि यह लंबे समय तक किसी के संपर्क में ना रहे। संसद हमले के दोषी आतंकवादी अफजल के मामले में भी ऐसा ही किया जाता था, लेकिन अफजल की जेल नहीं बदली जाती थी। वहां जेल स्टाफ बदला जाता था। जेल अधिकारी बताते हैं कि जेल में आतंकवादियों के सीधे संपर्क में किसी भी अन्य कैदी को नहीं आने दिया जाता। जो स्टाफ इनके संपर्क में लंबे वक्त तक तैनात रहता है, उसे बदल दिया जाता है।