September 22, 2020

आवश्यक सामग्री की आपूर्ति में एनडब्ल्यूआर ने लाई तेजी

मालगाडिय़ों की औसत स्पीड 75 प्रतिशत बढ़ाई

जयपुर, 27 अगस्त। देश के प्रत्येक भाग में आवश्यक सामग्री की निर्बाध आपूर्ति हो इसके लिए रेलवे की ओर से कई प्रयास किए जा रहे है। इस वर्ष जुलाई में उत्तर पश्चिम रेलवे (एनडब्ल्यूआर) ने 5.1 मिलियन टन माल लदान किया, जो गत वर्ष की इसी अवधि की तुलना में लगभग बराबर है। वर्तमान में जब रेलवे पर सीमित संख्या में यात्री गाडिय़ों का संचालन बहुत कम हो रहा है। इसको देखते हुए मालगाडिय़ों के संचालन गति तेज करते हुए ट्रेनों की औसत गति को बढ़ाया। एनडब्ल्यूआर पर मालगाडिय़ों की औसत गति अप्रैल से अगस्त तक 25.9 किलोमीटर प्रति घंटा से 75 फीसदी बढ़कर 45-40 किलोमीटर प्रति घंटा की गई।
इतना ही नहीं रेलवे की ओर से माल लदान तथा ढुलाई को अधिक से अधिक प्रोत्साहित करने के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे है ताकि माल ग्राहकों को होने वाली समस्या का निराकरण कर उन्हें रेलवे पर माल लदान के लिए आकर्षित किया जा सके। इसके लिए जोनल एवं मंडल स्तर पर स्थापित बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट की स्थापना की गई है जो व्यवसायियों और उद्योगपतियों से संपर्क कर उन्हे रेलवे के आकर्षक योजनाओं से अवगत करवा रहे है। यह यूनिट रेलवे पर माल ढुलाई को सरल और सुलभ बनाने के लिए व्यवसायिकों के साथ निरन्तर विचार-विमर्श कर लदान बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्राप्त करेगी। व्यापार उद्योग से प्राप्त किसी भी प्रस्ताव का तत्काल क्षेत्रीय स्तर पर विश्लेषण किया जाएगा और अन्य जोनल रेलवे और रेलवे बोर्ड से यदि आवश्यक हो, तो तुरंत सहायता मांगी जाएगी। बोर्ड स्तर पर स्थापित ये यूनिट ऐसे प्रस्तावों की प्राप्ति से एक सप्ताह के समय सीमा मे निर्णय लेगी। एनडब्ल्यूआर ने मुख्यालय एवं जयपुर, अजमेर, जोधपुर और बीकानेर मण्डलों में बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट का गठन किया है। इस यूनिट में परिचालन विभाग, वाणिज्य विभाग, यांत्रिक विभाग, इंजीनियरिग विभाग एवं वित्त विभाग से एक-एक वरिष्ठ अधिकारी समेत 5 अधिकारी शामिल होंगे। मुख्यालय स्तर पर मुख्य माल यातायात प्रबंधक व मंडल स्तर पर वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक इन यूनिटों में समन्वयक का कार्य करेंगे, जिनसे व्यवसायी व उद्योगपति सीधे संपर्क कर सकते हैं।