September 22, 2020

इंग्लैंड के पास ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार तीसरी सीरीज जीतने का मौका

दोनों देशों के बीच 41 साल बाद एक ही वैन्यू पर लगातार तीन मैच होंगे, शुरूआत आज

नई दिल्ली, (एजेंसी)। इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन वनडे सीरीज का पहला मुकाबला शुक्रवार को मैनचेस्टर में खेला जाएगा। टी-20 सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराने के बाद इंग्लैंड के पास वनडे सीरीज भी जीतने का मौका है। अगर इंग्लैंड टीम यह सीरीज जीतने में कामयाब हो जाती है, तो यह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसकी लगातार तीसरी सीरीज जीत होगी। वहीं, ऑस्ट्रेलिया 5 साल बाद मेजबान टीम से सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगा।
पिछली बार ऑस्ट्रेलिया ने सितंबर 2015 में इंग्लैंड को उसी के घर में 5 वनडे की सीरीज में 3-2 से हराया था। इसके बाद दोनों टीमों के बीच दो वनडे सीरीज हुई और दोनों में ऑस्ट्रेलिया को हार का सामना करना पड़ा। दोनों देशों के बीच तीनों वनडे मैनचेस्टर में खेले जाएंगे।
41 साल बाद ऐसा होगा, जब इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच किसी सीरीज के लगातार तीन मैच एक ही वैन्यू पर खेले जाएंगे। पिछली बार 1979 में दोनों देशों के बीच 5 वनडे की सीरीज के आखिरी तीन मुकाबले मेलबर्न में खेले गए थे।

ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भारी
ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच अब तक 22 सीरीज हुई है, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने 12 और इंग्लैंड ने 10 जीती है। वहीं, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया बीच इंग्लैंड में 15 सीरीज हुई। इसमें मेजबान टीम ने 8 और ऑस्ट्रेलिया ने सात जीती है।

इंग्लैंड टीम की मजबूती
इंग्लैंड टीम में वनडे सीरीज के लिए जेसन रॉय और टेस्ट कप्तान जो रूट की वापसी हुई है। रॉय चोट की वजह से पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में हिस्सा नहीं ले पाए थे। टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट को भी वनडे टीम के लिए वापस बुलाया गया है। रूट को टी-20 टीम में नहीं चुना गया था। चोट के कारण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टी-20 में नहीं खेलने वाले कप्तान इयोन मोर्गन एक बार फिर से टीम की कमान संभालते नजर आएंगे।

ऑस्ट्रेलिया के हौसले बुलंद
वनडे सीरीज के लिए 14 सदस्यीय टीम के अलावा इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने तीन खिलाडिय़ों को बतौर रिजर्व प्लेयर रखा है। इसमें डेविड मलान भी शामिल हैं। मलान ने इंग्लैंड के लिए टी-20 क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया था।
इसके दम पर वे आईसीसी टी-20 रैंकिंग में नंबर 1 बल्लेबाज बने। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड का मानना है कि आखिरी टी-20 में मिली जीत के बाद कंगारू टीम ने मोमेंटम हासिल कर लिया है। इसका फायदा उन्हें वनडे सीरीज में होगा।

ऑस्ट्रेलिया ने वल्र्ड कप के बाद से 7 में 2 मैच जीते
2019 वल्र्ड कप के बाद से ऑस्ट्रेलिया का वनडे में रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। टूर्नामेंट के बाद से उसने 7 में से 2 ही मैच जीते। इस दौरान पांच या उससे ज्यादा मैच खेलने वाली 14 टीमों के बीच उसका तीसरा सबसे खराब विनिंग परसेंटेज है।