Fri. Jul 3rd, 2020

इंटरव्यू में फेल हुए गुरुजी

विवेकानंद मॉडल स्कूल क्वालिटी टीचर्स को तरसे

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 30 जून। वक्त के साथ कई शिक्षक ज्ञान में पिछड़ रहे हैं। इसका नजारा प्रदेश के विवेकानंद मॉडल स्कूलों के लिए हुए ऑनलाइन इंटरव्यू में देखने को मिला। इंटरव्यू ले रहे पैनल के सवालों के जवाब पर अधिकांश गुरुजी से ना उगलते बना और ना निगलते। अधिकारी भी शिक्षकों की कमजोर होती लर्निंग और टीचिंग स्किल्स से चिंतित नजर आए। विवेकानंद मॉडल स्कूलों के लिए इन दिनों टीचर्स के ऑनलाइन इंटरव्यू हो रहे हैं।
इसमें कई गुरुजी फेल हो गए। कई ऐसे शिक्षक इंटरव्यू देने आये, जिन्हें देखकर लगा ही नहीं कि वो इस पेशे के साथ इंसाफ कर रहे हैं। इंटरव्यू पैनल के प्रमुख अतिरिक्त राज्य परियोजना निदेशक मुन्नीराम बगडिय़ा के मुताबिक इस साल महात्मा गांधी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों ने ज्वाइन कर लिया है लेकिन नई भर्तियों के लिए आये कई शिक्षक गुणवत्ता की दृष्टि से उतने काबिल नहीं थे।

2000 से ज्यादा शिक्षक इंटरव्यू देने पहुंचे
प्रदेश में 134 विवेकानंद मॉडल स्कूल हैं, जिन्हें राज्य सरकार चलाती है. लेकिन इनका सिलेबस सीबीएसई का होता है। ग्रामीण इलाकों की प्रतिभाओं को तराशने के लिए केंद्र सरकार बिल्डिंग बनाकर देती है और राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में अंग्रेजी माध्यम के इन स्कूलों को संचालित करती है। पढ़ाई के लिए स्टाफ की नियुक्ति शिक्षा विभाग करता है लेकिन इस बार जब शिक्षकों के चयन के लिए इंटरव्यू हुए तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई। कई शिक्षकों का बेसिक नॉलेज देखकर इंटरव्यू ले रहे अधिकारी सकते में आ गए। रिक्त पद 1460 हैं।