October 25, 2020

इंदौर के व्यापारी ने सांवरिया सेठ को चढ़ाई पौने चार किलो चांदी की पौशाक

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 7 अक्टूबर। इंदौर के प्रसिद्ध व्यापारी ने पौने चार किलो चांदी से बनी पौशाक को मंडफिया मंदिर में सांवरिया सेठ को भेंट की है। इस पौने चार किलो चांदी से बनी पोशाक पर सोने की पॉलिश चढ़ाई गई है। खास बात यह है कि उन्होंने सांवरिया सेठ मंदिर में गुप्त दान किया है। इसकी जानकारी उन्होंने किसी को नहीं दी थी। इस पोशाक को तैयार करने वाला कारीगर रतलाम का रहने वाला है। नीमच के चूड़ी गली में सराफा की दुकान चलाने वाले व्यापारी गोपाल सोनी ने बताया कि इंदौर के शेयर मार्केट व्यापारी ने एक महीने पहले सांवलिया सेठ की पौशाक तैयार करने के लिए फोन पर चर्चा की थी। वे 6 सितंबर को 3 किलो 720 ग्राम चांदी लेकर दुकान पर आए थे। इसके बाद ऑर्डर बुक करने के साथ ही पौशाक बनाने के लिए काम शुरू कर दिया गया। गोपाल ने बताया कि रोज 10 घंटे काम करके 20 दिन में पौशाक तैयार किया गया है। उसने बताया कि इस पोशाक पर सात ग्राम सोने से पॉलिश चढ़ाई गई है। इस बाद वे इस पौशाक को अपने घर पर ले गए। फिर पूजा-अर्चना के बाद वे मंदिर पहुंचे। उनके साथ सराफा व्यापारी गोपाल सोनी और उनके सहयोगी कारीगर मनोज सोनी भी सांवरिया सेठ मंदिर पहुंचे। इसके बाद व्यापारी ने मंदिर के पुजारी को पौशाक भेंट की। उस दिन व्यापारी ने सांवलिया सेठ को पोशाक पहनाकर उनका शृंगार किया और आशीर्वाद प्राप्त किया।

मंदिर में अफीम चढ़ाते हैं तस्कर
जानकारी के मुताबिक मंदिर में अफीम तस्कर अपनी खेप को पहुंचाने से पहले इस मंदिर में अफीम चढ़ाने आतें हैं। एमपी के आखिरी जिले नीमच से करीब 65 किलोमीटर दूर राजस्थान के चित्तौडग़ढ़ जिले की डूंगला तहसील के मण्डफिया में सांवरिया सेठ मंदिर है। इसलिए जब भी इस मंदिर की दान पेटी को खोली जाती है उसमें से कैश और जेवरात तो निकलतें हैं उसके अलावा दान पेटी में से बड़े पैमाने पर अफीम भी निकलती है।