October 28, 2020

उत्तर पश्चिम रेलवे ने अब तक किया 8.731 मिलियन टन माल लदान

जयपुर, 6 अक्टूबर। देश के प्रत्येक भाग में आवश्यक सामग्री की निर्बाध आपूर्ति हो इसके लिए रेलवे की ओर से विशेष प्रयास किए जा रहे है। उत्तर पश्चिम रेलवे (एनडब्ल्यूआर) के महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ने भी इस कार्य में विशेष योजना तैयार कर रेलवे पर लोडिंग बढ़ाने के विशेष प्रयास किए। इन्ही प्रयासों का परिणाम है कि एनडब्ल्यूआर ने इस वर्ष अब तक 8.731 मिलियन टन माल लदान किया है, जो कि गत वर्ष की इसी अवधि की 8.382 मिलियन टन से 4.17 फीसदी अधिक है। वर्तमान में जब रेलवे पर में यात्री गाडियों का संचालन सीमित संख्या में हो रहा है, तो इसको देखते हुए मालगाडिय़ों के संचालन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे पर खाद्यान्न, फर्टिलाइजर, सीमेंट तथा क्लिकर के लदान में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है। खाद्यान्न के लदान में 110 फीसदी की वृद्धि हुई है। मुख्य परिचालन प्रबंधक रविन्द्र गोयल ने बताया एनडब्ल्यूआर में मालगाडिय़ों के संचालन पर ध्यान केन्द्रित किया जा रहा है। मालगाडिय़ों का सुगम संचालन हो, इसके लिए मालगाडिय़ों की औसत गति में भी बढ़ोतरी की है। एनडब्ल्यूआर पर 4 अक्टूबर को माल लदान के परिवहन में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर 229 मालगाडिय़ों को इंटरचेंज किया। यह एनडब्ल्यूआर का अभी तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पूर्व एक दिन में 222 मालगाडिय़ों को इंटरचेंज किया था। रेलवे पर माल लदान तथा ढुलाई को अधिक से अधिक प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके लिए विशेष प्रयास किए है ताकि माल ग्राहकों को होने वाली समस्या का निराकरण कर उन्हें रेलवे पर माल लदान के लिए आकर्षित किया जा सके। इसके लिए जोनल एवं मंडल स्तर पर स्थापित बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट की स्थापना की गई है जो व्यवसायियों और उद्योगपतियों से संपर्क कर उन्हे रेलवे के आकर्षक योजनाओं से अवगत करवाती है।