Sat. Jan 25th, 2020

ऋचा ने 4 वर्ष की उम्र में ही उठा लिया था बैट

16 की उम्र में खेलेंगी वल्र्ड कप

कोलकाता (एजेंसी)। ऋचा घोष की उम्र की अधिकतर लड़कियां जब फरवरी में अपनी बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रही होंगी, तब सिलिगुड़ी की 16 साल की यह लड़की प्रतिष्ठित आईसीसी टी-20 विश्व कप में भारत की महिला टीम के साथ अपने पहले अंतरराष्ट्रीय दौरे पर होगी। अब बंगाल के अंशकालिक अंपायर अपने पिता मानवेंद्र घोष को देखकर ऋचा ने साढ़े चार की उम्र में बल्ला उठाया था और चैलेंजर ट्रोफी में अच्छे प्रदर्शन की बदौलत राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई।

सचिन की फैन
ऋचा ने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह सब इतनी जल्द होगा। इस पर विश्वास करना मुश्किल हैं और मैं अब तक इस अहसास से उबर नहीं पाई हूं। उन्होंने कहा कि मेरे पहले आदर्श हमेशा मेरे पिता रहे, जिनसे मैंने क्रिकेट सीखा। इसके बाद सचिन तेंडुलकर जो हमेशा मेरे आदर्श रहेंगे।

धोनी के छक्के पसंद
जब छक्के जडऩे की बात आती है तो वह महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसक हैं। ऋचा ने कहा कि वह (धोनी) जिस तरह छक्के मारते हैं वह मुझे पसंद है और मैं भी ऐसा ही करने का प्रयास करती हूं। गेंदबाज चाहे कोई भी हो, जब आपके हाथ में बल्ला होता है तो आप कुछ भी कर सकते हो। बंगाल की टीम में ऋचा को झूलन गोस्वामी का साथ मिलता है। जबकि वह हमेशा क्रिकेट पर भारत की पुरुष टीम के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के साथ बात करती हैं, जो उनके गृह नगर सिलिगुड़ी के ही रहने वाले हैं।

झूलन और ऋद्धिमान से मिलता है सपॉर्ट
उन्होंने कहा कि झूलन दी ने हमेशा टीम में मेरा समर्थन किया जबकि ऋद्धि दा (साहा) से मुझे हमेशा मदद मिली। वह व्यस्त रहते हैं, लेकिन हम बात करते रहते हैं। मैं समर्थन के लिए उनकी, अपने कोचों और बंगाल क्रिकेट संघ की आभारी हूं। खेल के प्रति ऋचा की गंभीरता को देखते हुए उनके पिता ने स्थनीय बाघा जतिन क्लब में उसे भेजना शुरू किया और वह तब क्लब में एकमात्र लड़की थी।
2012 में शुरू हुआ था कॅरिअर

ऋचा ने लंबा सफर तय किया और 2012-13 में
उन्हें बंगाल की सीनियर टीम के शिविर में बुलाया गया। बंगाल की महिला टीम के कोच शिव शंकर पाल ने कहा कि किसी भी कोच के लिए उनका होना शानदार है, वह प्रतिभा भगवान से तोहफे में मिली है, लेकिन वह काफी युवा है और हमें सुनिश्चित करना होगा कि वह लंबा रास्ता तय करें। बंगाल के ट्रेनर और विकेटकीपिंग कोच राहुल देब ने कहा कि वह आसानी से छक्के जड़ सकती है और शानदार क्षेत्ररक्षक भी है।

विश्व टी 20 टीम
हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, जेमिमा रोड्रिग्ज, हरलीन देओल, दीप्ति शर्मा, वेदा कृष्णमूर्ति, ऋचा घोष, तानिया भाटिया, पूनम यादव, राधा यादव, राजेश्वरी गायकवाड़, शिखा पांडे, पूजा वस्त्राकर और अरूधंति रेड्डी।