September 23, 2020

एनडब्ल्यूआर का स्वच्छता पखवाड़ा कल से शुरू

यात्रियों व कर्मचारियों को जागरूक करने के लिए होंगे अनेक कार्यक्रम

जयपुर, 17 सितम्बर। उत्तर पचिम रेलवे (एनडब्ल्यूआर) ने 16 सितम्बर से स्वच्छता पखवाड़े का शुभारम्भ किया है, जो 30 सितम्बर तक चलेगा। विगत दो वर्षों से एनडब्ल्यूआर ने सम्पूर्ण भारतीय रेलवे में स्वच्छता में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। अपने इस स्थान को बरकरार रखने के उदेश्य से यह पखवाड़ा शुरू किया है। हर वर्ष की भांति इस बार भी स्वच्छता पखवाड़े के दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित कर रेल यात्रियों व रेलवे कर्मचारियों सहित आमजन को जागरूक किया जाएगा। एनडब्ल्यूआर के उप महाप्रबन्धक शशि किरण ने बताया कि आज प्रधान कार्यालय पर एनडब्ल्यूआर के महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी रेलकर्मियों को स्वच्छता की शपथ दिलाकर स्वच्छता पखवाडे की शुरूआत की। इसमें रेलकर्मियों ने स्वच्छता के प्रति सजग रहने व इसके लिए समय देने तथा दूसरों को इसके प्रति प्रेरित करने और भारत को स्वच्छता में शीर्ष पर ले जाने की शपथ ली। उप महाप्रबन्धक शशि किरण ने बताया कि इस बार एनडब्ल्यूआर प्रधान कार्यालय पर स्वच्छता विषय पर वेबीनार का आयोजन किया जाएगा तथा आमजन को जागरूक करने के लिए बैनर, पोस्टर, यात्री उद्घोषणा सिस्टम के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होने बताया कि इस अभियान में प्रमुख उद्देश्य सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग बंद करना है, जिसके बारे में रेल परिसर में आने वाले यात्रियों को इसके नुकसानों से अवगत करवा कर जागरूक करना है।
स्वच्छता पखवाड़े के दौरान ई-सेमीनार व वर्कशॉप का आयोजन तथा स्वच्छता थीम पर ऑनलाइन निबंध, पेटिंग व पोस्टर प्रतियोगिताओं का आयोजन किए जाएंगे। इस अभियान में जयपुर, जोधपुर, अजमेर और बीकानेर मण्डलों के सभी स्टेशनों पर सफाई व्यवस्थाओं में सुधार के लिए कार्य किए जाएंगे। रेल परिसर में वृक्षारोपण कर हरित पर्यावरण के साथ-साथ स्वच्छता को बढ़ावा देने का कार्य किया जाएगा। स्टेशनों पर स्थित सभी टॉयलेटस् की स्थिति और अधिक सुधारने का कार्य इस पखवाड़े में दौरान किया जाएगा।

ई-पुस्तक का विमोचन
इस अवसर पर महाप्रबन्धक ने एनडब्ल्यूआर प्रधान कार्यालय के पर्यावरण व हाउस कीपिंग प्रबन्धन विंग की ओर से परिवहन के क्षेत्र में उपलब्धियों से संकलित ई-पुस्तक का विमोचन किया। इस मौके पर अपर महाप्रबन्धक श्रीमती अरूणा सिंह, प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर सुधीर गुप्ता सहित अन्य विभागाध्यक्ष व अधिकारी उपस्थित थे।