Tue. Jun 18th, 2019

एम्स-2019 का रिजल्ट घोषित, पांच छात्रों को मिली टॉप 100 में जगह

एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों ने फिर लहराया परचम

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 13 जून। ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) बुधवार को एमबीबीएस कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित की गई परीक्षा का रिजल्ट जारी किया, जिसमें एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों ने एक बार फिर से देशभर में अपना परचम लहराया है। इस रिजल्ट को अभ्यर्थी एम्स की आधिकारिक वेबसाइट एम्सएग्जाम्स.ओआरजी पर देख सकते है। एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक ब्रिजेश माहेश्वरी और नवीन माहेश्वरी ने बताया कि एम्स प्रवेश परीक्षा के जरिए स्टूडेंट्स को नई दिल्ली, पटना, भोपाल, जोधपुर, भुवनेश्वर, ऋषिकेश, रायपुर, गुंटूर, नागपुर सहित अन्य एम्स संस्थानों में चल रहे एमबीबीएस कोर्स में दाखिला मिलता है। बता दें कि इस परीक्षा के लिए बेसिक रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 30 नवंबर 2018 को शुरू हुई थी। एम्स एमबीबीएस कोर्स में दाखिले के लिए एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन 25 और 26 मई 2019 को किया गया था। परीक्षा दो चरणों में आयोजित की गई थी। यह कंप्यूटर आधारित टेस्ट था, जिसे हल करने के लिए 3.5 घंटे का समय दिया गया था। एम्स एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा के लिए लगभग चार लाख मेडिकल परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है। इस बार एम्स प्रवेश परीक्षा का आयोजन एम्स नई दिल्ली की ओर से किया गया था।
जयपुर के एलन हैड आशीष अरोड़ा ने बताया कि परिणाम में एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट, जयपुर के पांच छात्र ने टॉप-100 में जगह बनाई है, इसमें तपिश शर्मा को ऑल इंडिया रैंक 32वीं, मेघा गुप्ता को 44वीं, नलिन खंडेलवाल को 73वीं, निशीत सोनी को 83वीं और मोहित शर्मा को 91वीं रैंक मिली है। परिणाम में 3884 छात्रों सफल हुए है, जिनको 98.8867377 परसेंटाइल से अधिक अंक मिले है।

1207 सीटों पर एडमिशन मिलेगा
एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक ब्रिजेश माहेश्वरी ने बताया कि एम्स परीक्षा के जरिए एम्स में 1207 सीटें भरी जाएंगी। रिजल्ट घोषित के अनुसार अब सीट आंवटन की प्रक्रिया शुरू होगी।

एक अगस्त से सत्र शुरू
वहीं एम्स एमबीबीएस कोर्स 1 अगस्त 2019 से शुरू होगा। इससे पहले 15 जुलाई को ऑरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया गया जाएगा। जिसमें प्रवेशित छात्रों को भाग लेना होगा। गौरतलब है कि देश के एम्स संस्थानों और पुडुचेरी स्थित जेआईपीएमईआर में चलाए जा रहे एमबीबीएस कोर्स में दाखिला एम्स एंट्रेंस टेस्ट और जेआईपीएमईआर एंट्रेंस टेस्ट के जरिए ही होता है। इन दोनों संस्थानों के अलावा शेष अन्य सभी मेडिकल संस्थानों के एमबीबीएस कोर्स में दाखिला नीट परीक्षा के जरिए होता है।

व्यक्ति तौर पर नहीं बताया
एम्स परीक्षा में शामिल हुए परीक्षार्थियों को बता दें कि रिजल्ट छात्रों को फोन, एसएमएस या ई-मेल के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से नहीं बताया गया। छात्रों को बेबसाइट पर ही विजिट कर मेरिट लिस्ट और अपना रैंकार्ड डाउनलोड कर सकते है।

जल्द शुरू होगी काउंसलिंग
एम्स का परिणाम घोषित होने के बाद अब काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी। एम्स ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है और एम्स 20 जून से काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू करेगा। एम्स में प्रवेश की काउंसलिंग प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी होगी। वहीं, पहली ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए योग्य विद्यार्थियों की सूची 18 जून को जारी की जाएगी। ऑनलाइन सीट अलॉटमेंट व काउंसलिंग के पहले दौर में भाग लेने के लिए चयनीत छात्रों की कुल संख्या, प्रत्येक श्रेणी में उपलब्ध सीटों की संख्या से चार गुना रखी जाएगी।

दो छात्रों के बराबर अंक का ऐसा किया निर्णय
परिणाम में जीव विज्ञान में ज्यादा अंक लाने वाले परीक्षार्थी को पहले वरियता दी गई। दूसरी वरियता उन अभ्यर्थियों को दी गई, जिन्होंने रसायन विज्ञान में अधिक स्कोर किया है। यदि टाई बनी रहती है तो भौतिक विज्ञान में अधिक अंक प्राप्त करने वालों को प्राथमिकता मिलेगी। फिर भी टाई की स्थिति बनी रहती है तो उम्र में बड़े छात्र को वरियता दी गई।

इन राज्यों में मेडिकल सीटें
नई दिल्ली, भटिंडा, भोपाल, भुवनेश्वर, देवगढ़, गोरखपुर, जोधपुर, कल्याणी, मंगलगिरी, नागपुर, पटना, रायपुर, रायबरेली, ऋषिकेश और तेलंगाना में स्थित 15 एम्स संस्थान है।

यह रही कटऑफ
कैटेगरी                                          परसेंटाइल
सामान्य                                        98.1246748
सामान्य पीडब्ल्यूबीडी                   95.2939507
ओबीसी                                         95.2939507
ओबीसी पीडब्ल्यूबीडी                    90.2036135
एससी/एसटी                                90.2036135
एससी/एसटी पीडब्ल्यूबीडी           82.2525521