Tue. Jun 18th, 2019

करोड़ों की ठगी मामले में वांछित और 5 हजार का इनामी आरोपी गिरफ्तार

जयपुर, 12 जून। सांगानेर थाना पुलिस ने करोड़ों की ठगी मामले में पांच साल से फरार इनामी अपराधी गिरफ्तार किया है। जांच पड़ताल में सामने आया कि आरोपित युवक नक्सली एरिया में बीडी पत्ते के व्यापारी का मुनीम बनकर फरारी काट रहा था। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी राजेन्द्र कुमार बोथरा निवासी महावीर नगर प्रथम बजाज नगर का रहने वाला है। गिरफ्तारी से पूर्व आरोपी की हर संभव जगह तलाश की गई लेकिन वह अपने मूल गांव आंचलिया का बास, देशनोक, जिला बिकानेर से गायब हो गया। जिसे पूर्व में टॉप-10 में शामिल किया गया व आरोपी की गिरफ्तारी पर 5 हजार रुपए का ईनाम की घोषणा की गई थी। पुलिस उपायुक्त पूर्व डॉ राहुल जैन ने बताया कि पुलिस मुख्यालय राजस्थान जयपुर के द्वारा चलाये जा रहे वांछित अपराधियों के गिरफ्तारी अभियान व जिला स्तर व थाना स्तर पर टॉप -10 वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम का गठन किया। आरोपी ने जयपुर पूर्व पर वर्ष 2014 में तीन व्यापारियों भगवती प्रसाद छीपा निवासी सांगानेर के द्वारा 85 लाख रुपए की ठगी, विनोद विजय के द्वारा 56-57 लाख रुपए व राजेन्द्र कुमार जैन के द्वारा 5,53,700/- रुपए की ठगी की थी। तकनिकी साधनों से सूचना मिली कि आरोपी राजेन्द्र कुमार बोथरा कोलकाता, पश्चिम बगांल के नक्सली एरिया में बीडी के पत्तों के व्यापारी के यहां मुनीम का काम कर रहा है। आरोपी ने किराये के मकान मे रहने लगा व आईडी भी कोलकाता की बना ली गई। आरोपी पिछले दो माह से नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जंगलों में ही रह रहा था। पुलिस से बचने के लिये अपना भेष भी बदल लिया गया जिससे कोई पहचान ना पाए।

आरोपी ने जुआ सट्टा मे घाटा लगने पर की थी ठगी
पूछताछ में सामने आया कि आरोपी के द्वारा सांगानेर कस्बे से व्यापारियों से कपड़े की दलाली की जाती थी तथा माल को आगे मुनाफे मे बेचा जाता था, लेकिन जुआ-सट्टा के शौक होने के कारण घाटा लग गया जिसके कारण आगे व्यापारियों के नाम के बिल बनवाकर माल को स्वयं द्वारा ही अन्यत्र बेचकर खुर्द-बुर्द कर दिया गया। जिसके चलते करीब एक दर्जन व्यापारियों को दो-तीन करोड रुपए के माल को स्वयं खुर्द बुर्द कर आगे ना पहुंचाकर अचानक गायब हो गया था।