November 27, 2020

कर्मचारियों की मांग पर इंटक का विरोध प्रदर्शन

जयपुर, 3 नवंबर। राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम में कार्यरत तकनीकी कर्मचारियों ने विभिन्न मांगों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया। कर्मचारियों के मुताबिक टाइम बॉन्ड प्रमोशन पॉलिसी के तहत 1997-98 में नियुक्त तकनीकी कर्मचारियों को पदोन्नति का लाभ देने, इंसेंटिव की पॉलिसी में किए जा रहे बदलाव से होने बाली कटौती वापस जोडऩे, एकबारिय स्थानांतरण पॉलिसी के तहत वंचित तकनीकी कर्मचारियों के आदेश जारी करने की मांग पर काली पट्टी बांध कर विरोध जताया। इंटक द्वारा घोषित प्रदेशव्यापी आंदोलन के तहत सोमवार को सूरतगढ़ सुपर थर्मल,सुपर क्रिटीकल थर्मल,कोटा,कालीसिंध, छबड़ा,रामगढ़ थर्मल,जवाहर सागर हेंडल,राणा प्रताप सागर हेंडल व अन्य स्थानों में इंटक सदस्यों ने काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया। राजस्थान विद्युत उत्पादन इंटक के प्रदेश महामंत्री श्याम सुंदर शर्मा बताया कि उत्पादन प्रशासन को तकनीकी कर्मचारियों की महत्वपूर्ण समस्याओं को लेकर कई बार लिखित और मौखिक रूप से अवगत कराया लेकिन उत्पादन प्रशासन सिर्फ अधिकारियों के ही कार्य करता है तकनीकी कर्मचारियों के कोई भी कार्य आसानी से नहीं करता है। उसके लिए तकनीकी कर्मचारियों को आंदोलन ही करना पड़ता है। कोटा थर्मल में कार्यकारी अध्यक्ष इकबाल हुसैन पठान के नेतृत्व संगठन से जुड़े तकनीकी कर्मचारियों ने प्रशासनिक भवन के बाहर काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया। पठान ने उपस्थित तकनीकी कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि बार-बार लिखित ज्ञापन देने के बावजूद उत्पादन निगम प्रशासन की हठधर्मिता के चलते कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाए गए है। उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन ने अब भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की तो इंटक प्रदेश की सभी तापीय परियोजनाओं में उग्र प्रदर्शन करेगी।