Sun. May 31st, 2020

कांग्रेस ने देखी श्रमिकों की परेशानी, चलाई एक हजार बसें

रसांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 23 मई। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि पिछले दिनों कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के आह्वान पर प्रवासी श्रमिकों की परेशानी को देखते हुए उन्हें अपने गंतव्य स्थान तक ले जाने के लिए 1000 बसों की व्यवस्था की गई थी। प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस पार्टी द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार से 500 बसों को गाजियाबाद से और 500 बसों को नोएडा से चलाने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने कहा कि राजस्थान बॉर्डर से श्रमिकों को उत्तरप्रदेश ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था भी कांग्रेस पार्टी द्वारा की गई थी। पायलट शुक्रवार को प्रदेश कांगे्रस मुख्यालय, जयपुर में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान यह बात कहीं। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता एवं परिवहन मंत्री श्री प्रतापसिंह खाचरियावास, एआईसीसी के सचिव व उत्तप्रदेश सहप्रभारी जुबेर खान, धीरज गुर्जर एवं रोहित चौधरी ने भी सम्बोधित किया।
बसों को प्रवेश की अनुमति नहीं दी : उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को उत्तरप्रदेश में बसों को जाने से रोकने के लिए उत्तरप्रदेश सरकार ने बहुत ही नकारात्मक रवैया अपनाते हुए इन बसों को प्रवेश की अनुमति नहीं दी। भाजपा की उत्तरप्रदेश सरकार ने कांग्रेस पार्टी द्वारा दी गई बसों की प्रकाशित सूची पर सवाल उठाए और उत्तरप्रदेश में कांग्रेस नेताओं पर फर्जी मुकदमें दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार भी किया गया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने कांग्र्रेस पार्टी द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिए उपलब्ध करवाई जाने वाली बसों को अनुमति देने के लिए द्वेषता रखते हुए उनके संबंध में फिटनेस प्रमाण पत्र, वाहन चालकों के लाईसेंस, परमिट सहित कई शर्तें लगा दी।