Mon. Feb 18th, 2019

कार्तिक नहीं बल्कि ऊपरी क्रम की खराब बल्लेबाजी से हारा भारत

न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार के बाद सोश्यल मीडिया पर छिड़ी बहस

हैमिल्टन, (एजेंसी)। न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टी-20 मैच में भारत को 4 रन के नजदीकी अंतर से हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही भारत का लगातार 10 टी-20 सीरीज नहीं हारने का क्रम भी टूट गया। भारत को मैच जीतने के लिए आखिरी ओवर में 16 रन की दरकार थी। दिनेश कार्तिक और क्रुणाल पांड्या क्रीज पर थे। लेकिन ये दोनों टिम साउदी के इस ओवर में सिर्फ 11 रन ही जुटा सके। सोशल मीडिया में ज्यादातर क्रिकेट प्रशंसक इस हार के लिए दिनेश कार्तिक को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। क्योंकि उन्होंने आखिरी ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद डॉट खेली। ओवर की अंतिम गेंद पर उन्होंने छक्का जड़ा, लेकिन तब तक बहुत चुकी थी।

कार्तिक और क्रुणाल ने पहुंचाया था जीत के करीब : भारत की इस हार पर सोशल मीडिया की बहस दो धड़ों में बंट गई है। कुछ लोग इस हार के लिए भारत के शीर्ष क्रम को जिम्मेदार मान रहे हैं, तो कुछ के निशाने पर दिनेश कार्तिक हैं। लेकिन इस पूरे मैच में टीम इंडिया के प्रदर्शन पर नजर डालें तो हार के लिए कार्तिक कहीं से भी दोषी नहीं हैं। बल्कि क्रुणाल पंड्या और दिनेश कार्तिक के बीच 7वें विकेट के लिए 28 गेंदों में 63 रनों की साझेदारी नहीं होती, तो भारत की हार और बड़ी होती। ्रकार्तिक ने 16 गेंदों में 4 छक्कों की मदद से 33 और पंड्या 13 गेंदों में 2 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 26 रन बनाकर नाबाद रहे।

गेंदबाजी और फील्डिंग में रही बेहद खराब : दरअसल, भारतीय क्षेत्ररक्षकों और गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण न्यूजीलैंड ने 212 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जिसका पीछा करते हुए भारत के 3 सबसे धाकड़ बल्लेबाजों ने बहुत खराब प्रदर्शन किया, जिसका खामियाजा मैच हारकर चुकाना पड़ा। शिखर धवन, रोहित शर्मा और एम.एस. धोनी ने पूरी तरह निराश किया। धवन सिर्फ 5 रन बनाकर पवेलियन लौटे। रोहित ने (32 गेंदों में 38 रन) क्रीज पर टिके तो रहे, लेकिन तेजी से रन नहीं बना सके। जब टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी तो वह एक खराब शॉट खेलकर पवेलियन लौट गए। धोनी भी 4 गेंदों का सामना कर सिर्फ 2 रन बनाकर आउट हो गए। इन तीनों बल्लेबाजों ने मिलकर 40 गेंदों में मात्र 45 रन ही बनाए। इस दौरान इन्होंने सिर्फ 4 बाउंड्री लगाईं। बाकी के 5 बल्लेबाजों ने अच्छी बल्लेबाजी की और भारत को मैच में अंत तक बनाए रखा। विजय शंकर, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या और दिनेश कार्तिक ने मिलकर 80 गेंदों का सामना किया और 151 रन बनाए। इसमें 22 बाउंड्री लगाईं।