September 28, 2020

कैद या जुर्माना, आज सजा होगी तय

नई दिल्ली, 31 अगस्त (एजेंसी)। सुप्रीम कोर्ट आज अवमानना को लेकर सीनियर वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ सजा तय करेगा। मामला वर्तमान और पूर्व चीफ जस्टिस के बारे में भूषण के विवादित ट्वीट का है। 14 अगस्त को कोर्ट ने इन ट्वीट पर प्रशांत भूषण के स्पष्टीकरण को अस्वीकार करते हुए उन्हें अवमानना का दोषी करार दिया था। कोर्ट ने भूषण को बिना शर्त माफी मांगने के लिए समय दिया गया था, लेकिन उन्होंने माफी मांगने से मना कर दिया था। जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच प्रशांत भूषण के खिलाफ फैसला सुनाएगी। अदालत की अवमानना अधिनियम के तहत सजा के तौर पर भूषण को 6 महीने तक की कैद या 2000 हजार रुपये का जुर्माना या दोनों सजा हो सकती हैं। इसके पहले अटॉर्नी जनरल के.के. वेणुगोपाल ने बेंच से अनुरोध किया कि अवमानना के मामले में भूषण को अब कोई सजा नहीं दी जाए क्योंकि उन्हें दोषी पहले ही ठहराया जा चुका है. इस पर बेंच ने कहा,अदालत ये अनुरोध उस समय तक स्वीकार नहीं कर सकती जब तक प्रशांत भूषण अपने ट्वीट के लिये क्षमा याचना नहीं करने के अपने रुख पर पुनर्विचार नहीं करत। बेंच ने वेणुगोपाल से कहा कि भूषण के बयान के स्वर, भाव और विवरण मामले को और बिगाडऩे वाला है। क्या यह बचाव है या फिर आक्रामकता। न्यायालय ने कहा कि वह बेहद नरमी बरत सकता है, अगर गलती करने का अहसास हो।