October 23, 2020

गुर्जरों को खुश करने की कवायद

अलका गुर्जर को भाजपा राष्ट्रीय मंत्री बनाए जाने के पीछे की वजह बनी चर्चा में

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 28 सितम्बर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने शनिवार को अपनी नई टीम की घोषणा कर दी। लगभग 8 महीने बाद नई टीम में कई नए चेहरों को शामिल किया गया है तो कई नेताओं की छुटी भी हुई है। राजस्थान की बात करें तो प्रदेश से वसुंधरा राजे को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर बरकरार रखा है लेकिन ओम माथुर को नड्डा की टीम में जगह नहीं मिली। इधर सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है वहीं डॉक्टर अलका गुर्जर की भाजपा का राष्ट्रीय मंत्री पद पर नियुक्ति हुई है। जानकारों का कहना है कि ओम माथुर को अलग से कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है क्योंकि वे राजस्थान में संगठन महामंत्री और प्रदेशाध्यक्ष समेत कई राज्यों के प्रभारी रहे हैं। साथ ही सांसद भूपेंद्र यादव को महामंत्री का पद बरकरार रखा गया है।

डॉ. अलका को जगह मिली है
नड्डा की टीम में बतौर राष्ट्रीय मंत्री पद पर डॉ.अलका गुर्जर को जगह मिली है। वर्तमान में अलका गुजर प्रदेश उपाध्यक्ष पद पर हैं। प्रवक्ता और विधायक रही हैं लेकिन राजस्थान में चले सियासी घटनाक्रम के बाद गुर्जर समुदाय कांग्रेस से नाराज चल रहा है। विधानसभा चुनाव में गुर्जरों के कांग्रेस की तरफ चले जाने की वजह से भाजपा को खासा नुकसान हुआ था। ऐसे में डॉ.अलका गुर्जर को राष्ट्रीय मंत्री बनाकर गुर्जरों को खुश करने की कवायद के तौर पर भी देखा जा रहा है। इधर पूर्व केंद्रीय मंत्री और जयपुर ग्रामीण से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है। हालांकि राज्यवर्धन के केंद्रीय कैबिनेट में शामिल होने की चर्चा थी लेकिन संगठन में उनको शामिल किया गया है। राजस्थान के पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की बात करें तो केंद्रीय टीम में अभी तक एमपी से जुड़े नेताओं में प्रभात झा,शिवराज सिंह, उमा भारती और विनय सहस्त्रबुद्धे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष थे। हालांकि शिवराज सिंह के मुख्यमंत्री बनने के बाद ये स्वाभाविक माना जा रहा था कि उन्हें संगठन के काम से फिलहाल मुक्त किया जा सकता है। इसके अलावा राष्ट्रीय सचिव पद से ज्योति धुर्वे भी बाहर हुई हैं।