Wed. Sep 18th, 2019

ग्राम पंचायत पनियाला में विकास अधिकारी की हठधर्मिता से मायूस लौटे ग्रामीण

महात्मा गांधी ग्रामोत्थान पट्टा कैंप, पंचायत मुख्यालय पर दिया धरना

कोटपूतली (निसं.)। एक और जहां राज्य सरकार की ओर से ग्रामीणों व किसानों की राजस्व सम्बंधित समस्याओं को हल करने व ग्रामीण क्षेत्र की कृषि एवं आवासीय भूमियों की पट्टा सम्बंधित समस्याओं को हल करने के लिए पंचायत स्तर पर महात्मा गांधी ग्रामोत्थान पट्टा कैंप का आयोजन कर उन्हें राहत प्रदान करने के प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं दूसरी और अधिकारियों की हठधर्मिता के कारण ये कैंप निरर्थक भी साबित हो रहे हैं। ऐसा ही कुछ नजारा बुधवार को निकटवर्ती ग्राम पंचायत पनियाला स्थित राजीव गांधी सेवा केंद्र पर आयोजित कैंप के दौरान नजर आया। जहां सैकड़ों की संख्या में अपनी राजस्व समस्याओं जैसे खाता तरमीम, इंतकाल खुलवाना, बंटवारा, रास्ता जैसी अन्य समस्याओं का समाधान करवाने व कृषि एवं आवासीय भूमियों का पट्टा जारी करवाने पहुंचे सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण किसानों को ग्राम पंचायत विकास अधिकारी जीतेन्द्र मीणा की हठधर्मिता के आगे उदास होकर बैरंग वापिस लौटना पड़ा। उल्लेखनीय है की मीणा पूर्व में लगातार ग्राम पंचायत कार्यालय से गैर हाजिर रहे, जिससे बुधवार को आयोजित कैंप में एक भी पट्टा पत्रावली का निस्तारण नहीं हो सका। इससे बड़ी संख्या में गुस्साए ग्रामीण अधिकारियों को खरी खोटी सुनाते हुए मौके पर ही धरने पर बैठ गए। वहीं मौके पर मौजूद पटवारी राजाराम चौधरी ने ग्रामीणों के सामने आबादी भूमि का सीमा ज्ञान एवं आबादी भूमि रिपोर्ट करने पर हामी भरी। जिसके बाद ग्राम विकास अधिकारी मीणा के अड़ीयल रवैए को लेकर बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने सरपंच रविन्द्र मीणा की अगुवाई में कैंप प्रभारी प्रेम प्रकाश बावता को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग भी की, लेकिन काम ना होने से निराश ग्रामीणों को बैरंग ही वापिस जाना पड़ा। कैंप प्रभारी ने इस बाबत उच्च अधिकारियों को सूचित कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान पंचायत प्रसार अधिकारी महेंद्र कुमार समेत बड़ी संख्या में कार्मिक व ग्रामीण मौजूद थे।