Mon. Feb 18th, 2019

चंद्रबाबू नायडू दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठे

एक दिन का विरोध, अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने की है मांग

नई दिल्ली, 11 फरवरी (एजेंसी)। अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र सरकार के किए गए वादों को पूरा करने की मांग के साथ आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू आज सुबह आठ बजे से आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर बैठ गए। वे आज रात आठ बजे तक भूख हड़ताल पर रहेंगे। वे मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौपेंगे। नायडू ने अपने प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए कई राजनीतिक दलों से सहयोग मांगा है। माना जा रहा है कि उन्हें विपक्ष के दूसरे दलों का सहयोग मिल सकता है। नायडू भूख हड़ताल से पहले राज घाट पर महात्मा गांधी और आंध्र भवन के पास बीआर अंबेडकर को श्रद्धांजलि देने के बाद धरने पर बैठे।

मोदी पर पत्नी को लेकर हमला
इससे पहले रविवार देर शाम चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी का जिक्र करते हुए तीखा हमला बोला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आंध्र प्रदेश के गुंटूर में चंद्रबाबू नायडू को लोकेश के पिता कहकर संबोधित किया था। इसके जवाब में नायडू ने कहा, आप अपनी पत्नी से अलग रहते हैं। क्या परिवार के मूल्यों के प्रति आपके मन में कोई आदर भी है? नायडू ने कहा कि वो अपने परिवार को प्यार करते हैं। नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री का न तो परिवार है और न ही कोई बेटा। जब आपने मेरे बेटे का हवाला दिया तो मैं आपकी पत्नी का जिक्र कर रहा हूं। क्या लोगों को पता है कि नरेंद्र मोदी की पत्नी भी हैं। उनका नाम जसोदाबेन है। नायडू ने ये बातें विजयवाड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं। नायडू ने मोदी पर देश को गर्त में धकेलने का भी आरोप लगाया व कहा कि नोटबंदी एक पागलपन भरा फैसला था। हालांकि शुरू में नायडू ने इसका समर्थन किया था। जब उन्होंने समर्थन किया था तब वो बीजेपी की अगुआई वाले गठबंधन एनडीए का ही हिस्सा थे। नायडू ने कहा, आपने एक हजार के नोट को खत्म कर दिया और 2000 के नोट लेकर आए। क्या इससे भ्रष्टाचार ख़त्म हो जाएगा?