September 28, 2020

चल सकती है मेट्रो, बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज

  • जल्द जारी हो सकती हैं नई गाइडलाइंस
  • अंतरराष्ट्रीय उड़ानों और नियमित रेल सेवाओं के भी फिलहाल शुरू होने के आसार नहीं

नई दिल्ली, 25 अगस्त (एजेंसी)। गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि अनलॉक-4 में भी स्कूल और कॉलेज बंद रह सकते हैं। अनलॉक-4 की शुरुआत सितंबर में हो सकती है। विभिन्न परीक्षाओं को मिली मंजूरी के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अनलॉक-4 में स्कूल-कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थान आदि खोले जा सकते हैं लेकिन सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर मिली है कि अनलॉक के इस चरण में भी सरकार ने स्कूल कॉलेजों को खोलने की मंजूरी नहीं दी है। इसके साथ ही इस चरण में भी कंटेनमेंट जोन पर सख्त पाबंदी जारी रहेगी। इस चरण में मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू किया जा सकता है। अनलॉक-4 को लेकर गृह मंत्रालय जल्द ही विस्तृत दिशानिर्देश जारी कर सकता है।पांच अगस्त से शुरू हुए अनलॉक के तीसरे चरण में जिम और योग संस्थान खोलने की मंजूरी दी गई थी। इसके अलावा कंटेनमेंट जोन में 31 अगस्त तक लॉकडाउन लगाने का भी आदेश दिया गया था। अनलॉक के तीसरे चरण में नाइट कफ्र्यू भी हटा लिया गया था। पिछले चरण में भी सरकार ने सिनेमा हॉल खोलने की मंजूरी नहीं दी थी वहीं जानकारी मिली है कि इस चरण में भी सरकार सिनेमा हॉल आदि को बंद ही रख सकती है। अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों और नियमित रेल सेवाओं के भी फिलहाल शुरू होने के आसार नहीं दिख रहे हैं।

इन पर है पूरी तरह से पांबदी
देश में मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन के बाद से ही सिनेमा हॉल,स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर,बार आदि पर पूरी तरह से पाबंदी लगी हुई है। इसके अलावा सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक आयोजनों और बड़े समारोहों पर रोक लगी हुई है। सरकार ने अनलॉक के दूसरे चरण में विभिन्न हिदायतों के साथ शॉपिंग मॉल्स और धार्मिक संस्थान खोलने की मंजूरी दी थी।

मार्च से देश में लॉकडाउन
कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते केंद्र सरकार ने मार्च में ही लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी। इसके बाद कई चरणों में इस लॉकडाउन के बाद सरकार ने जून में आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए अनलॉक की शुरुआत करने का आदेश दिया जिसका चौथा चरण सितंबर में शुरू होने वाला है। अनलॉक के विभिन्न चरणों में कंटेनमेंट जोन में सख्त पाबंदी जारी रखने पर जोर दिया जा रहा है ताकि संक्रमण की चेन को तोडऩे में मदद मिल सके। देश में फिलहाल कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 30 लाख के पार हो गई है।