Tue. Jun 18th, 2019

छबीले दोऊ छवि सो कुंज विराजे…

खोले के हनुमानजी मंदिर में धूमधाम से मना छठी उत्सव

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 12 जून। दिल्ली रोड लक्ष्मण डूंगरी के पीछे स्थित खोले के हनुमानजी मंदिर परिसर में श्री सियारामजी महाराज के 22 वें पाटोत्सव के अन्तर्गत छठें दिन मंगलवार को सियारामजी महाराज का छठी उत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर सियारामजी को फूल बंगला में विराजमान किया गया। प्रारंभ में श्री नरवर आश्रम सेवा समिति खोले के हनुमानजी प्रन्यास के अध्यक्ष गिरधारीलाल शर्मा, महामंत्री बृजमोहन शर्मा, कार्यक्रम संयोजक ओमजी रावत एवं अन्य ने आरती उतारी। शुक संप्रदाय पीठाधीश्वर अलबेली माधुरीशरण महाराज के सानिध्य में छठी महोत्सव की बधाइयां गाईं गईं। सरस परिकर के प्रवक्ता प्रवीण बड़े भैया के निर्देशन में डॉ. राधेश्याम शर्मा, गिरधारी सहित अनेक श्रद्धालुओं ने छबीले दोऊ छवि सो कुंज विराजे…, रमे री मेरे मन में राधेश्याम…, अवध में प्रगटे राम कुमार…, किया फूल शृंगार जुगल ने…जैसे पदगायन से माहौल को भक्तिमय कर दिया। बधाईगान के साथ नृत्य और उछाल की जुगलबंदी हुई। श्रद्धालुओं के बीच फल, खिलौने, मेवा की जमकर उछाल लुटाई गई। सावन डांगी ने तबले पर और गोपाल राव ने नगाड़े पर साथ दिया। प्रमोद पारीक और जगदीश नारायण गुप्ता के संयोजन में हुए छठी उत्सव में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने झांकी के दर्शन किए। इससे पूर्व अन्नपूर्णा मां के द्वितीय पाटोत्सव के अन्तर्गत सुबह छह बजे विभिन्न द्रव्यों से वेद मंत्रोच्चार के साथ महाभिषेक हुआ। सुबह दस बजे षोडशोपचार पूजन के बाद ग्यारह बजे राजभोग आरती हुई। सरयूशरण शर्मा के संयोजन में साढ़े ग्यारह बजे विशेष उत्सव आरती हुई।

आज गंगामाता पाटोत्सव, भजन संध्या
श्री नरवर आश्रम सेवा समिति खोले के हनुमानजी प्रन्यास के महामंत्री बृजमोहन शर्मा ने बताया कि बुधवार को गंगामाता नवम् पाटोत्सव सुबह छह से साढ़े ग्यारह बजे तक मनाया गया। इसके बाद शाम सात बजे भजन संध्या होगी। 13 जून को श्री बलराम सत्संग मंडल की ओर से संकीर्तन होगा। 14 जून को शिव सत्संग मंडल की ओर से हरिनाम संकीर्तन, 15 जून को भीलवाड़ा के साकेत रामायण मंडल की ओर से सामूहिक सुंदरकांड के पाठ होंगे। 16 जून को लक्ष्मीनारायण पुरी के श्री वैष्णव मंडल की ओर से कीर्तन होगा।