December 3, 2020

छह राज्यों में पटाखों के बिना दिवाली

कोरोना महामारी के कारण इस बार उत्साह कुछ फीका

नई दिल्ली, 10 नवम्बर (एजेंसी)। दिवाली की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस बार उत्साह कुछ फीका रहेगा। पटाखों के बिना दिवाली की कल्पना नहीं की जा सकती है, लेकिन कोरोना और लॉकडाउन के नियमों के कारण कुछ राज्यों ने पटाखों की खरीदी बिक्री पर रोक लगा दी है। इस तरह की पाबंदी लगाने वाला राजस्थान पहला राज्य था। शुक्रवार को कर्नाटक ने भी पाबंदी लगा दी। इससे पहले ओडिशा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और दिल्ली भी इसी तरह के फैसले ले चुके हैं। तमिलनाडु में भी लोगों से पटाखे नहीं जलाने की अपील की है। इससे जहां बच्चे मायूस हैं, वहीं दिल्ली जैसे राज्यों में एक वर्ग खुश भी हैं, क्योंकि दिवाली के पटाखों से यहां प्रदूषण का स्तर कई गुना बढ़ जाता है। इसी तरह पटाखा उद्योग से जुड़े लोग भी खुश नहीं हैं।

शिवकाशी को तगड़ा झटका : देश में पटाखों का सबसे बड़ा उत्पादन शिवकाशी में होता है। इस बार शिवकाशी में निराशा है। कारण पहले लॉकडाउन के कारण उत्पादन देरी से शुरू हुआ। इसके बाद अब दिलावी पर एक के बाद एक राज्य बैन लगा रहे हैं। शिवकाशी का 70 फीसदी बिजनेस दिवाली पर होता है।