September 23, 2020

जयपुर में बनेगा पहला क्षेत्रीय मतदान जागरुकता केन्द्र

निर्वाचन आयोग का फैसला

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 3 सितम्बर। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए निर्वाचनों के संचालन के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने राज्य में निर्वाचन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर आयोग द्वारा जारी उक्त दिशा-निर्देश की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए बताया कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को इनसे अवगत कराया जाए एवं अभी से ही महामारी को ध्यान में रखते हुए सभी प्रकार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं।
सुनील अरोड़ा ने बताया कि मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम एवं इससे पूर्व जो भी कार्यवाही अभी तक परम्परागत तरीके से की जाती थी, उसमे भी परिवर्तन किया जाना चाहिये। नागरिकों को अधिक से अधिक ऑनलाइन आवेदन पत्र प्रस्तुत करने हेतु जागरूक किया जाए। इसी प्रकार से चुनाव मशीनरी को भी अधिकांश कार्य ऑनलाइन करने हेतु प्रशिक्षित किया जाए।
उन्होंने बताया कि जयपुर में निर्वाचन आयोग का पहला क्षेत्रीय मतदान जागरूकता केन्द्र स्थापित किया जाएगा। इस बाबत राजस्थान सरकार ने इंदिरा गांधी नगर में 3385 वर्ग मीटर भूमि नि:शुुल्क आवंटित की है। इस केन्द्र के निर्माण का व्यय आयोग द्वारा किया जाएगा। क्षेत्रीय स्वीप कार्यालय राजस्थान राज्य के साथ-साथ हरियाणा,पंजाब एवं मध्य प्रदेश राज्य में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम का संचालन करेगा। उन्होंने निर्देश दिए कि मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों में सभी मीडिया प्लेटफार्म का अनुकूलतम उपयोग कर आम नागरिकों को जागरूक किया जाए। इसी प्रकार से निर्वाचन संबंधी बैठकों का विभिन्न स्तरों पर आयोजन किया जाता है। उनका भी आयोजन वेबीनॉर एवं वीसी के माध्यम से किया जाकर प्रशिक्षण सत्रों में भी इसी प्रकार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए ताकि लोगों का भौतिक रूप से सम्पर्क न्यूनतम हो।