September 25, 2020

जरूरतमंदों के लिए वरदान बना मेहंदीपुर बालाजी

लॉकडाउन में 70400 से ज्यादा लोगों को करवाया भोजन, सरकार को पहुंचाई 73 लाख की मदद

मेहंदीपुर बालाजी/जयपुर, 1 जून। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगाए लॉकडाउन में बड़ी तादाद में जरूरतमंद लोग को दो वक्त की रोटी के लिए मोहताज हो गए। ऐसे लोगों के सहयोग के लिए मेहंदीपुर बालाजी मंदिर ट्रस्ट बड़े स्तर पर खाना बनवाकर लोगों को खिलवाया। लॉकडाउन के से लेकर अब तक ट्रस्ट की ओर से 70400 से ज्यादा लोगों को भोजन करवाकर मानवता की नई मिसाल पेश की है। इतना ही नहीं ट्रस्ट की ओर से समाजिक सरोकार निभाते हुए मुख्यमंत्री सहायता कोष कोविड-19 राहत कोष में 73 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जा चुकी हैं।
बालाजी मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष व सदगुरु महंत किशोरपुरी महाराज के निर्देशानुसार ट्रस्ट की ओर से लगातार 30 मार्च से प्रतिदिन 1100 पैकेट भोजन करौली, भरतपुर प्रशासन के जरिए जरूरतमंद लोगों में वितरण करवाया जा रहा है। मंदिर ट्रस्ट प्रवक्ता ने बताया कि यह सेवा आगामी 2 जून तक जारी रहेगी, जिसके तहत अब तक भरतपुर में करौली क्षेत्र के 70400 से ज्यादा जरूरतमंद लोगों को लड्डू, पूड़ी, सब्जी और चावल का भोजन कराया जा चुका है। इसके अलावा ट्रस्ट की ओर से दौसा जिले मे प्रत्येक व्यक्ति के हिसाब से 10 किलो आटा, 1 किलो दाल, नमक, तेल, साबुन व मिर्ची आदि अन्य मसाले करीब 700 जरूरतमंद लोगो को घरेलू भोजन सामग्री दी गई।
आपको बता दें कि वर्षभर बारह महीने देश के कोने कोने से आने वाले हजारों श्रद्धालुओं से गुलजार रहने वाली इस धार्मिक नगरी में प्रशासन की ओर से दुकानें खोलने की अनुमति देने के बाद भी यहां सन्नाटा पसरा हुआ है। इसका कारण यह है कि आस्थाधाम की दुकानों में अधिकतर श्रद्धालुओं की चाहत का सामान मिलता है। आसपास के ग्रामीण यहां खरीददारी के लिए नाम मात्र के ही आते हैं।
बालाजी मंदिर के कपाट बंद रहने से श्रद्धालु नहीं आ रहे। लॉक डाऊन के चलते यहां के हजारों लोग बेरोजगार हो गए। वहीं धर्मशाला, होटल, गेस्ट हाऊस संचालकों के सामने गहरा संकट खड़ा हो गया है।

कोरोना के खात्मे के लिए जारी रहेगा यज्ञ
लॉकडाउन लेकर अब तक मंदिर ट्रस्ट ने आस्थाधाम मेहंदीपुर बालाजी मंदिर के कपाट बंद कर श्रद्धालुओं के दर्शनों पर रोक लगा रखी है। लेकिन इस बीच सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान रखकर मंदिर में नियमित आरती कर भगवान को भोग लगाया जा रहा हैं।
इस दौरान वैदिक विधि से विश्वभर में कोरोना के खात्मे के लिए मंदिर में महंत किशोरपुरी महाराज की प्रेरणा से हनुमान चालीसा का जाप करते हुए हवन किया जा रहा है। महंत महाराज ने बताया कि वैदिक काल से ही परम्परा चली आ रही है कि किसी भी महामारी में हवन से निकला हुआ धुंआ वातावरण की शुद्धि के लिए अच्छा रहता है। इसलिए विशेष आहुतियों से कष्ट निवारण जाप के साथ सुख शांति की कामना की जा रही है।