October 26, 2020

जहां मांग, वहां खोले जाएंगे इंग्लिश स्कूल

सीएम अशोक गहलोत की बड़ी घोषणा

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 16 अक्टूबर। सीएम अशोक गहलोत ने सरकारी अंग्रेजी स्कूलों को लेकर बड़ी घोषणा की है। गहलोत ने कहा कि जहां भी महात्मा गांधी इंग्लिश स्कूल की मांग होगी वहां अगले बजट से नई स्कूलें खोली जाएंगी। उन्होंने शिक्षा राज्यमंत्री से कहा कि वे इसके लिए तैयारी करें। बकौल सीएम हिंदी के साथ इंग्लिश जरूरी हो गई है इसलिए जहां भी मांग है वहां इंग्लिश स्कूल खोले जाएं। सीएम ने यह घोषणा गुरुवार को वर्चुअल शिक्षक सम्मान समारोह में की। सीएम निवास से वीसी के जरिए यह कार्यक्रम हुआ। इस मौके पर गहलोत ने गोविन्द सिंह डोटासरा की तारीफों के पुल बांधते हुये कहा कि अब तक जितने भी नेता आए हैं सब कहते हैं कि उन्हें शिक्षा मंत्री मत बनाना। डोटासरा शिक्षक के पुत्र हैं। ये शिक्षा विभाग में मन से काम और नवाचार करना चाहते हैं। गहलोत ने कहा कि महात्मा गांधी इंग्लिश स्कूल का प्रयोग डोटासरा का था। आज हर जगह से इन इंग्लिश स्कूलों की मांग आ रही है। गहलोत बोले राहुल गांधी ने कल उन्हें कल एक आर्टिकल भेजा है। उसमें लिखा था कि कैसे एक आईपीएस इंग्लिश सिखाकर बदलाव ला सकता है।

शिक्षक तबादला नीति तैयार है
वर्चुवल शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षा राज्यमंत्री गोविंदसिंह डोटासरा ने विभाग की उपलब्धियां गिनाते हुये कहा कि शिक्षक तबादलों के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए गए हैं। शिक्षक तबादला नीति तैयार है। जल्द ही इसे सीएम के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। शिक्षकों को डायरी और परिचय पत्र दिए गए हैं। आरटीई में आय सीमा 1 लाख से बढ़ाकर 2.5 लाख कर दी गई है।

200 इंग्लिश स्कूल खोले
डोटासरा ने बताया कि 800 से ज्यादा शिक्षकों का सम्मान किया जा चुका है। कोरोना काल में पाठ्यक्रम का ई-कंटेंट बनाकर वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिये गये हैं। केंद्र सरकार ने भी इस कंटेंट की मांग की है। शनिवार को स्कूलों में नो बैग-डे रखने का प्रयोग शुरू किया गया है। पहली बार 1000 से ज्यादा स्कूल क्रमोन्नत किए गये हैं। 200 इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले गए हैं। जहां 65 हजार विद्यार्थी पढ़ रहे हैं। 5वीं तक की कक्षा के बस्ते का बोझ 5 किलो 300 ग्राम से 2 किलो 300 ग्राम पर ले आए हैं।

नो बेग-डे के पोस्टर का विमोचन
समारोह में सीएम ने नो बैग-डे के पोस्टर का विमोचन किया वहीं इ- कक्षा प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई। कार्यक्रम में तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग,मुख्य सचिव राजीव स्वरूप,वेदांता ग्रुप के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अफसर मौजूद रहे।