September 27, 2020

जेल में कमाए पैसे से खरीदा बेटी के लिए फोन

रायपुर, 3 सितम्बर (एजेंसी)। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में आनंद नामक एक शख्स रहता है। एक हत्या के दोष में वो बीते 15 वर्षों से जेल में सजा काट रहा था। अब वह अपने घर जाने पर काफी खुश था पर खुशियों पर पानी तब फिरा जब उसने देखा कि उनकी 12 वर्षीय बेटी यामिनी कक्षा 12वीं में पढ़ती है वो रोज ऑनलाइन क्लास लेने के लिए जद्दोजहद कर रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि यामिनी के पास स्मार्टफोन नहीं था। रिपोर्ट के मुताबिक आनंद बाजार गया। उसने जो पैसे इतने वर्षों में जेल के अंदर मेहनत-मजदूरी कर कमाए थे उससे उन्होंने यामिनी के लिए एक स्मार्टफोन खरीदा।

बेटी बनना चाहती है डॉक्टर
आनंद ने कहा,जब मैं आया तो बेटी के पास क्लास अटेंड करने के लिए कोई डिवाइस नहीं था। वो डॉक्टर बनना चाहती है। इसके माध्यम से मानवता में सहयोगा देना चाहती है। जेल में रहने के दौरान मुझे पता चला कि पढ़ाई कितनी जरूरी है। जब मैं जेल से आया तो मैंने सोचा कि कुछ भी हो जाए मैं अपनी बेटी की में पढ़ाई में बाधा नहीं आने दूंगा। जेल अधीक्षक राजेंद्र गायकवाड़ के मुताबिक आनंद उन 20 लोगों में से थो जिन्हें जेल में अच्छे व्यवहार के लिए जाना जाता था। जाहिर सी बात है कि उसने ये मिसाल स्थापित की है कि बेटियों के लिए शिक्षा कितनी जरूरी है।