Mon. Feb 18th, 2019

जो जाति की बात करेगा वह पिटेगा-गडकरी

नई दिल्ली, 11 फरवरी (एजेंसी)। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि उनके क्षेत्र में जातिवाद के लिए कोई जगह नहीं क्योंकि उन्हें चेतावनी दे रखी है कि जो भी जाति की बात करेगा उसे वह पीटेंगे। उन्होंने यह बयान मजाकिया अंदाज में दिया। पुणे में पिंपरी चिंचवाड़ टाउनशिप में पुर्नोत्थान समरसता गुरुकुलम की ओर से आयोजित कार्यक्रम में गडकरी ने कहा कि समाज में आर्थिक और सामाजिक समानता होनी चाहिए। इसमें जातिवाद और साम्प्रदायिकता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए। बीजेपी के वरिष्ठ नेता कहा, हम किसी तरह के जातिवाद में भरोसा नहीं करते। मुझे आपके बारे में नहीं पता लेकिन हमारे पांच जिलों में जातिवाद के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि सभी को चेतावनी दी है कि यदि किसी ने जाति की बात की तो मैं उसकी पिटाई करूंगा। नागपुर से सांसद गडकरी ने आगे कहा, पूरा समाज आर्थिक और सामाजिक रूप से समान व एकजुट होना चाहिए और यह जातिवाद व साम्प्रदायिकता से मुक्त होना चाहिए। अपने बेबाक बयानों के लिए मशहूर गडकरी के हाल के दिनों में दिए गए बयानों के चलते कई विवाद हुए हैं। उन्होंने पिछले साल दिसंबर में कहा था कि नेतृत्व को जीत के साथ ही हार की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए। उनका यह बयान राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार के बाद आया था। हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया। उनके सोच समझकर चुनावी वादे के बयान ने भी काफी सुर्खियां बटोरी थी। गडकरी ने कहा था कि बड़े-बड़े वादे सभी को अच्छे लगते हैं लेकिन यह जब पूरे नहीं होते हैं तो फिर जनता पिटाई भी करती है। इसी तरह से पिछले महीने गडकरी ने राजनेताओं से दूसरे क्षेत्रों में हस्तक्षेप देने से बचने को कहा थ। गडकरी ने यह बयान यवतमाल में सालाना मराठी साहित्यिक सम्मेलन के समापन समारोह में दिया था। इस कार्यक्रम में जानी मानी लेखिका नयनतारा सहगल को निमंत्रण देने के बाद विवाद खड़ा हो गया था।