October 23, 2020

जो वादा किया, वो निभाया भी

नीति गोपेंद्र भट्ट

नई दिल्ली, 23 सितम्बर। लोकसभा के असाधारण मानसून सत्र में लिए पिछला ऐतिहासिक रहा। ऐसे कम ही मौके होते हैं जब संसद के दोनों सदन में से किसी एक की भी कार्यवाही आधी रात तक चले। रविवार को लोकसभा में ऐसा हुआ था। सदन की कार्यवाही रात करीब एक बजे तक और वो भी लगातार 10 घंटे तक चली। इस दौरान कोई ब्रेक नही हुआ। निचले सदन ने इस सत्र में देर रात तक बैठकर एक नया रिकॉर्ड दर्ज किया।
चर्चा के दौरान सांसदों ने कहा कि लोकसभाध्यक्ष ओम बिड़ला जो वादा करते हैं, निभाते हैं। रविवार को 47 सांसदों के नाम लौटरी निकली थी लेकिन चर्चा में 188 सांसदों ने भाग लिया। इसमें राजस्थान के पी.पी.चौधरी, सुभाष बहेडिया, राज्यवर्धन सिंह, दुष्यन्त सिंह, देवजी पटेल, हनुमान बेनीवाल, जसकौर मीना,अर्जुन लाल मीणा, सुमेधानंद सरस्वती, रंजीता कौली, सी.पी.जोशी सहित सभी अन्य सांसदों ने अपनी बात कही। बिड़ला ने सभी मौजूद सदस्यों को बोलने का मौका दिया। सांसद भी अपने नाम व बोलने की प्रतीक्षा में बैठे रहे।