Fri. Mar 22nd, 2019

तीन बार फेल होने वाला बनता है मंत्री

नागपुर, 12 मार्च (एजेंसी)। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है। जो सेकेंड क्लास पास होता है, वह चीफ इंजीनियर बनता है लेकिन जो तीन बार फेल हो जाता है, वह मिनिस्टर बनता है। राजनीति में आने के लिए कोई क्वालिटी की आवश्यकता नहीं है। यह बात केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने नागपुर में एक कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए कही। गडकरी ने कहा कि मुझे झूठ बोलना नहीं आता है, जो कहना है, वो मुंह पर कहता हूं। इससे कई बार मुझसे लोग नाराज भी हो जाते हैं। कुछ लोग झूठा रोते हैं और झूठा हंसते हैं। उनके मन में जिसके लिए प्यार नहीं होता है, उसके लिए अच्छा-अच्छा बोलते हैं, लेकिन मैं कभी झूठ नहीं बोलता हूं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चतुर और चतरा इन दो शब्दों मे बहुत अंतर है। मैं आप लोगों से कभी झूठ नहीं बोल सकता हूं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने की मेरी न तो कोई महत्वाकांक्षा है और न ही आरएसएस की मुझे उम्मीदवार के रूप में पेश करने की कोई मंशा है। हमारे लिए देश सर्वोपरि है। गडकरी का यह बयान उस समय आया है, जब लोकसभा चुनाव में किसी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने की स्थिति में भारतीय जनता पार्टी की ओर से उनको प्रधानमंत्री पद के उम्मीद के तौर पर पेश करने को लेकर अटकलें चल रही हैं। गडकरी ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री की दौड़ में नहीं हूं और जोर देकर कहता हूं कि मेरा मंत्र सिर्फ अथक काम करना है।