September 20, 2020

तेजस्वी सीएम का चेहरा नहीं, वो ट्विटर ब्वॉय हैं…

  • कांग्रेस-रालोसपा ने बढ़ा दी राजद की टेंशन
  • जदयू भी लालू के लाल को दौड़ में नहीं मानता

पटना, 16 सितम्बर (एजेंसी)। बिहार के सियासी गलियारे से बड़ी खबर है कि कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के चेहरे पर राजद के दावे को खारिज कर दिया है। बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह धीरज ने कहा है कि महागठबंधन में मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा इस बारे में अंतिम फैसला पार्टी आलाकमान ही लेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि 42 सालों से परंपरा यही रही है कि हम लोग आलाकमान के आदेश के अनुसार ही अपनी रणनीति तय करते हैं। राजद द्वारा सीएम फेस के लिए तेजस्वी यादव का नाम आगे किए जाने पर कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि उनको अपनी पार्टी का चेहरा तय करने का अधिकार है और ठीक इसी तरीके से कांग्रेस को भी सीएम फेस का चेहरा तय करने का पूरा अधिकार है। महागठबंधन का चेहरा कौन होगा यह तय नहीं है। इस बीच उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी यानी रालोसपा ने भी सीएम फेस पर राजद के दावे को खारिज कर दिया है। पार्टी प्रवक्ता धीरज सिंह कुशवाहा ने कहा कि सीएम फेस के लिए अभी महागठबंधन में बात चल रही है। इससे पहले जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने कहा था कि कोई कुछ भी कह ले लेकिन बिहार की लड़ाई मुख्यमंत्री नीतीश बनाम लालू की होगी। इन्हीं दोनों के चेहरे पर ही इस बार बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ा जाएगा। तेजस्वी यादव तो अभी बच्चे हैं उनके बारे में क्या कहना है? तेजस्वी यादव तो अभी तो ट्विटर ब्वॉय हैं।

बिहार चुनाव की तारीखों का ऐलान इसी सप्ताह संभव!
इस बीच चुनाव आयोग की 2 सदस्यों की टीम इस समय बिहार दौरे पर है। यह टीम बिहार के अलग-अलग हिस्सों में जा कर हालात का जायजा ले रही है। संकेत मिल रहे हैं कि इसी सप्ताह बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान किया जा सकता है। ऐसे में सवाल उठता है कि कोरोना काल में इस बार का बिहार चुनाव कितने फेज में होगा? बिहार में पिछले दो-तीन विधानसभा चुनाव 6 से 7 चरणों में संपन्न हुए हैं। इस बार कोरोना और बाढ़ के चलते कम चरणों में चुनाव कराने की कवायद चल रही ह। बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है। माना जा रहा है कि इस बार का बिहार चुनाव तीन से चार चरणों में होंगे।