September 25, 2020

दुल्हनें पाकिस्तान में फंसी, लाने में मदद की गुहार

Beautiful Photo of handshake of a newly married Couple In India, promising each other love and affection for the rest of their life.

तीन परेशान युवकों ने मंत्री कैलाश चौधरी को दी जानकारी

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 16 सितम्बर। देश में चल रही कोरोना महामारी के बीच राजस्थान के सीमावर्ती इलाके बाड़मेर और जैसलमेर से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां बाड़मेर और जैसलमेर के तीन युवाओं ने केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी को एक याचिका भेजकर पाकिस्तान से अपनी पत्नियों को वापस लाने की पहल करने का अनुरोध किया है। दरअसल तीनों ने शादी करने के लिए करीब 18 महीने पहले पाकिस्तान की यात्रा की थी लेकिन जब उनकी दुल्हनों ने वीजा लगाया, तो उनका आवेदन खारिज कर दिया गया। लिहाजा तीनों युवकों को बिना पत्नियों के ही वापस वतन लौटना पड़ा।

कोरोना महामारी के कारण भी रुकना पड़ा
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तीनों युवकों की पत्नियों का वीजा रद्द होने के बाद लगातार वो उन्हें वापस लाने के लिए कोशिश करते रहे। इसके बाद देश- दुनिया में कोरोना महामारी का कहर आ गया। साथ ही पाकिस्तान के साथ संबंधों में खटास आने के कारण पाकिस्तान से भारत के सभी मार्ग बंद कर दिए गए। इस प्रकार वीजा आवेदनों में देरी होती रही। लिहाजा अब ये तीनों युवक पत्नियों को वापस लाने के लिए सरकार से गुहार कर रही है। इस मामले में गोपाल सिंह का कहना है कि 26 वर्षीय नेपाल सिंह और 24 वर्षीय विक्रम सिंह दोनों भाइयों की शादी सिंध राज्य के तनेराव सिंह सोढा और रणजीत सिंह की बेटियों से हुई थी। लेकिन लौटते वक्त वीजा नहीं मिला।