August 14, 2020

दो युवाओं ने दृष्टिहीनों के लिए बनाई मैजिक छड़ी

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 18 जुलाई। उदयपुर में बीटेक के छात्र ने अपने मित्र के साथ मिलकर दृष्टिहीनों के लिए एक ऐसी मैजिक छड़ी का आविष्कार किया है जो उनके लिए काफी मददगार साबित होगी। उनके द्वारा तैयार छड़ी 7 फीट की दूरी से खतरे का संकेत देने लगती है। वहीं चार फीट की दूरी से बीप का ध्वनि संदेश तथा 2 फीट की दूरी पर वाइब्रेट करके दृष्टिहीन व्यक्तियों को उसके निकट किसी चीज होने का आभास कराती है। उदयपुर में रह रहे लोपड़ा मावली के प्रतिभावान छात्र गर्वित पालीवाल ने अपने मित्र सुमित शर्मा के साथ मिलकर मैजिक छड़ी बनाई है। दृष्टिहीन व्यक्ति इस छड़ी में लगे एक बटन से अपने परिवार वालों को उनकी लोकेशन के साथ लिखित संदेश भी पहुंचा सकता है। यदि किसी स्थान पर यह छड़ी छूट जाए तो रिमोट द्वारा उसे आसानी से ढूंढा भी जा सकता है। गर्वित ने बताया कि इस छड़ी में एक मोबाइल सिम और बैटरी की जरूरत होती है और उनके द्वारा बनाई गई इस मैजिक छड़ी की लागत 8000 रुपये तथा वजन लगभग 500 ग्राम है। अगर बड़े पैमाने पर इसका निर्माण हो तो इसकी लागत और भी कम हो सकती है। अब वे इस मैजिक छड़ी का पेटेंट कराने की भी बात कर रहे हैं। गर्वित ने बताया कि अपने मित्र के साथ कॉलेज से आते वक्त बीच रास्ते में मन्दिर पर एक दृष्टिहीन को अक्सर मुश्किल से सड़क पार करते हुए देखते थे। इनकी सुविधा के लिए इस आविष्कार को बनाने की प्रेरणा मिली। गर्वित जीआर इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड में तथा सुमित भेल झांसी में कार्यरत है।