October 28, 2020

नाबार्ड का स्वच्छता साक्षरता अभियान कल से शुरू

26 जनवरी 2021 तक प्रदेश के सभी जिलों के 150 गांवों में चलेगा अभियान

जयपुर, 3 अक्टूबर। भारत सरकार के स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) में सहयोग के बाद अब इस मिशन को आगे बढ़ाते हुए नाबार्ड ने अखिल भारतीय स्तर पर स्वच्छता साक्षरता अभियान का आयोजन शुरू किया है। यह अभियान कल गांधी जयंती 2 अक्टूबर को शुरू किया, जो 26 जनवरी 2021 तक चलेगा। इस अभियान के तहत देश के 2000 गांवों को कवर किया जाएगा। जबकि राजस्थान के सभी जिलों के 150 गांवों कवर किए जाएंगे। अभियान का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण आबादी में घरेलू शौचालयों के व्यापक उपयोग और स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना है। प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अखिल अरोरा ने अभियान की औपचारिक शुरुआत करते हुए पोस्टर तथा लीफलेट जारी किए। इस अवसर पर नाबार्ड राजस्थान के मुख्य महाप्रबंधक जयदीप श्रीवास्तव ने सभी हितधारकों और जिला स्तर से जुड़े ग्राम वासियों तथा नाबार्ड के जिला विकास प्रबन्धकों को स्वच्छता साक्षरता अभियान के उद्देश्यों के विषय में संबोधित किया।
इस मौके पर श्रीवास्तव बताया कि वर्ष 2014 में भारत सरकार की ओर से शुरू किए स्वच्छ भारत मिशन के कारण देश को पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ़) होने का गौरव प्राप्त हुआ है। इस अभियान को जारी रखते हुए अब ओडीएफ प्लस के इस वर्तमान चरण में स्वच्छता जागरूकता उत्पन्न करने पर बल दिया जाएगा। इन प्रयासों से ग्रामीणों के जीवन स्तर की गुणवत्ता बेहतर होने के साथ ही साथ पर्यावरण की स्वच्छता में भी गुणात्मक सुधार आएगा, जो कोविड-19 महामारी की इस वर्तमान परिस्थिति में विशेष रूप महत्वपूर्ण है। इस अभियान की शुरुआत राज्य एवं नाबार्ड के जिला विकास प्रबन्धकों (डीडीएम) के सहयोग से जिला स्तर पर शुरू की गई तथा यह अभियान 26 जनवरी 2021 तक जारी रहेगा। इस अभियान के दौरान ऑडियो विजुअल माध्यमों यथा फिल्म, ब्रोशर, पोस्टर, जिंगल आदि का प्रयोग कर लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता उत्पन्न की जाएगी।