Tue. Jun 18th, 2019

नियुक्ति की मांग, धरना जारी

जयपुर, 11 जून। तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 1998 के करीब 2 हजार से ज्यादा चयनित 21 साल बाद भी नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच 4 सरकार बदल गई, लेकिन हर बार सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा है, अब इन चयनित शिक्षकों ने आंदोलन की राह अपना ली है। प्रदेशभर के विभिन्न जिलों से कलेक्ट्रेट सर्किल पर बड़ी संख्या में सैंकड़ों चयनित अभ्यर्थी 7 जून से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं। इस भीषण गर्मी में भी अभी तक सरकार की ओर से कोई वार्ता नहीं की गई है। चयनित शिक्षक संघ प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप पालीवाल ने बताया कि 21 साल में हर सरकार और हर मंत्री तक को गुहार लगाई जा चुकी है, लेकिन आज भी नियुक्ति का इंतजार है। जबकि चयनित शिक्षिका ऊषा शर्मा का कहना है कि उम्र अब रिटायरमेंट की हो चुकी है, लेकिन अभी तक नियुक्ति भी नहीं मिली है। प्रदेशभर के करीब 2 हजार से ज्यादा चयनित शिक्षकों की जो उपेक्षा 21 साल से हो रही है। ऐसी उपेक्षा तो शायद आज तक किसी की नहीं हुई है। गौतरलब है कि 1998 में निकाली गई भर्ती में बोनस अंक का पेंच फंसने की वजह से कम अंक वालों का नियुक्ति दे दी गई थी। जबकि उच्च अंक वाले रह गए थे। इसके साथ ही अदालत का फैसला पक्ष में आने के बाद भी अभी तक नियुक्ति नहीं मिल पाई है।