December 3, 2020

नीदरलैंड में लड़के-लड़कियां दुनिया में सबसे लंबे

  • पर्याप्त पोषण ना मिलने से आठ इंच कम हो सकती है लंबाई
  • रिपोर्ट में खुलासा

नई दिल्ली, 10 नवम्बर (एजेंसी)। किसी भी बच्चे के लिए बढ़ती उम्र के साथ पौष्टिक खान-पान लेना उसके लिए शारीरिक और मानसिक तौर पर बेहद जरूरी है। कमजोर खान-पान का असर सीधे-सीधे बच्चों की बढ़ती लंबाई और शारीरिक या मानसिक विकास पर पड़ता है। मेडिकल जर्नल लैंसेट की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगर बच्चे को पौष्टिक आहार नहीं मिलता है तो उनकी लंबाई पर 20 सेंटीमीटर यानि कि करीब आठ इंच तक असर पड़ सकता है। यह किसी भी क्षेत्र या देश के बच्चों पर लागू हो सकता है। रिसर्च में पाया गया है कि किसी इलाके में खास उम्र के बच्चों की औसत लंबाई के हिसाब यह पता लगाया जा सकता है कि एक लंबी समय अवधि में वहां भोजन की गुणवत्ता कैसी रही। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बच्चों की लंबाई और वजन में जेनेटिक्स की अहम भूमिका रहती है। ऐसे में पोषण और पर्यावरण दोनों अहम भूमिका निभाते हैं। 2019 में 19 साल की उम्र के लड़कों में सबसे ज्यादा औसतन लंबाई नीदरलैंड में रही है। नीदरलैंड में इस आर्यु के लड़कों की औसतन लंबाई 183.8 सेंटीमीटर यानि करीब छह फीट थी। सबसे कम औसत लंबाई तिमोर में थी, जो 160.1 सेंटीमीटर यानि कि पांच फीट तीन इंच थी। रिसर्च के लिए पांच से 19 साल तक के 6.5 करोड़ बच्चों के डाटा का विश्लेषण किया गया था।