September 26, 2020

नौसेना 2 दमदार हथियारों का परीक्षण करेगी

नई दिल्ली,10 सितम्बर (एजेंसी)। लद्दाख में चीन से जारी तनाव के बीच भारतीय सेना ने मुस्तैदी बढ़ा दी है। सेना के तीनों अंग अपने आपको चौकस रखने में जुटे हैं। इसी क्रम में भारतीय नौसेना भी अपनी ताकत बढ़ा रही है। नौसेना गुरुवार को गोवा में होने जा रही ड्रिल में दो शक्तिशाली हथियारों का परीक्षण करने वाली है। ये हथियार इतने शक्तिशाली हैं कि नौसेना की ओर से इनके परीक्षण के दौरान समुद्री इलाके में मछुआरों और नौकाओं को दूर रहने की चेतावनी जारी की गई है। दरसअल भारतीय नौसेना गोवा के समुद्री क्षेत्र में 105 मिमी लाइट फील्ड गन और 40/40 एंटीएयरक्राफ्ट गन का परीक्षण करेगी। नौसेना की ओर से इन दोनों का परीक्षण गोवा के मोरमुगाओ और हेडलेंड साडा में होने हैं। जानकारी के मुताबिक इन हथियारों की फायरिंग ड्रिल सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक होनी है. इसके साथ ही जो डेंजर जोन बनाया गया है वो मोरमुगाओ हेडलैंड फ्लैग स्टाफ की मौजूदा स्थिति से 220 से 260 डिग्री की दूरी पर है। वहीं समुद्र में यह 15 समुद्री मील की दूरी तक और 7100 मीटर की ऊंचाई तक स्थित है। दोनों शक्तिशाली हथियारों के परीक्षण को लेकर मछुआरों, बंदरगाहों, समुद्री परिवहन करने वालों और मछली पकडऩे वाले जहाजों को इस डेंजर जोन से दूर रहने की चेतावनी जारी की गई है। नौसेना गुरुवार को जिस 105 लाइट फील्ड गन का परीक्षण करने वाली है वो बोफोर्स तोप का मिनी वर्जन है. 105 फील्ड गन का कुल वजन 3400 किग्रा है। इससे निकला गोला 11 किमी दूर स्थित दुश्मन पर भारी पड़ता है। वहीं एंटीएयरक्राफ्ट गन एक मिनट में 240 से 330 गोले दागने में सक्षम है।
यह हवा में ही विमानों को नष्ट कर देती है। इसकी मारक क्षमता काफी सटीक है।