September 24, 2020

पंजाब में खालिस्तान समर्थकों की सक्रियता से खुफिया एजेंसियां सतर्क

सूची की जा रही तैयार

तरनतारन, 26 अगस्त (एजेंसी)। श्री अकाल तख्त साहिब के सामने रेफरेंडम-2020 की सफलता के लिए अरदास कर वीडियो बनाने का प्रयास करने वाले खालिस्तान समर्थक ग्रंथी गुरमीत सिंह की हरकत से गांव राम सिंह वाला के लोग काफी हैरान हैं। 1200 की आबादी वाला यह गांव विधानसभा हलका खेमकरण में आता है। वहीं, खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद पुलिस ने उन पूर्व आतंकियों व खालिस्तान समर्थकों की सूची तैयार करनी शुरू कर दी है जो दो वर्ष के दौरान रेफरेंडम-2020 व खालिस्तान मूवमेंट का समर्थन करने वालों के संपर्क में रहे हैं। इस जिले से संबंधित दो दर्जन पूर्व आतंकी भी हैं, जिनकी सूची तैयार पुलिस हर माह गृह विभाग को भेजती है। खुफिया एजेंसियों की टीम ने सोमवार को गांव राम सिंह वाला में करीब चार घंटे डेरा डाले रखा। गुरमीत के पिता लक्ष्मण सिंह व मां परमजीत कौर से पूछताछ की। वहीं, पुलिस भी गुरमीत सिंह के परिवार के आचरण का रिकॉर्ड खंगाल रही है। भिखीविंड के डीएसपी राजबीर सिंह का कहना है कि पुलिस अपने स्तर पर मामले की जांच कर रही है। गुरमीत सिंह के पिता लक्ष्मण सिंह ने अरदास वाली घटना से अनभिज्ञता जताई है, जबकि गांव राम वाला सिंह वाला के सरपंच गुरमीत सिंह का कहना है कि लंबे समय से लक्ष्मण सिंह की आर्थिक हालत को देखते उसे गुरुद्वारा साहिब में सेवादार की जिम्मेदारी दी गई है।