September 25, 2020

परीक्षा के दौरान छात्रों, कॉलेजों और केंद्रों को मानने होंगे नियम

केंद्र सरकार ने जारी की गाइड लाइन्स

कोरोना वायरस के बीच हो रही परीक्षाओं के मद्दे नजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन्स जारी की हैं, ताकी छात्र, फैकल्टी और सभी संबंधित लोग कोरोना वायरस से सुरक्षित रह सकें। देश में कोरोना वायरस महामारी का कहर लगातार जारी है। हर गुजरते दिन के साथ कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। कोरोना वायरस के बीच आयोजित हो रही परीक्षाओं को लेकर छात्रों और अभिभावकों के मन में काफी डर देखने को मिल रहा है। इसके चलते छात्र लंबे समय से जेईई मेन, नीट और यूनिवर्सिटी की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग कर रहे थे, हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षाओं को आयोजित करने की अनुमति दे दी, क्योंकि अदालत का कहना है कोरोना वायरस 1 साल तक भी रह सकता है, परीक्षा रद्द करने से छात्रों का साल बर्बाद हो सकता है। जेईई मेन परीक्षा बीते दिन 1 से 6 सितंबर तक हुई। नीट परीक्षा 13 सितंबर को होगी। वहीं दूसरी ओर यूनिवर्सिटी की अंतिम इयर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक पूरी की जानी हैं. कोरोना वायरस के बीच हो रही परीक्षाओं के मद्दे नजर केंद्र सरकार ने गाइडलाइन्स जारी की हैं, ताकी छात्र, फैकल्टी और सभी संबंधित लोग कोरोना से सुरक्षित रह सकें।

छात्रों को करनी होगी कोरोना नियमों की सख्ती से पालना

  • 6 फीट की दूरी और मास्क का प्रयोग करना अनिवार्य होगा।
  • सेनेटाइजर और साबुन का इस्तेमाल जरूर करना होगा।
  • छींकते-खांसते समय मुंह ढक कर रखना होगा।
  • अपनी पुरानी बीमारी को लेकर खुद मॉनिटर करना होगा और इसकी जानकारी देनी होगी।
  • थूकने पर सख्त पाबंदी होगी।
  • मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप का होना अनिवार्य है।

यूनिवर्सिटी, शैक्षणिक संस्थान, परीक्षा केंद्र, और परीक्षा लेने वालों के लिए भी नियम

  • कंटेनमेंट जोन के बाहर स्थित परीक्षा केंद्र में ही परीक्षा की इजाजत होगी।
  • कंटेनमेंट जोन में रहने वाले कर्मी परीक्षा लेने की प्रक्रिया में शामिल नहीं हो सकेंगे।
  • कंटेनमेंट जोन वाले छात्रों के लिए बाद में परीक्षा आयोजित की जाएगी।
  • ज्यादा भीड़ ना हो इसे देखते हुए एक-एक कर समयबद्ध तरीके से छात्रों की एंट्री होगी।
  • सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए परीक्षा केंद्र में पर्याप्त कमरों की व्यवस्था करनी होगी। कोरोना के मद्देनजर बचाव के लिए फेस कवर, फेस मास्क और सेनेटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था परीक्षा केंद्र के अंदर होनी चाहिए।
  • परीक्षा लेने और परीक्षा देने वालों को परीक्षा से पहले अपने स्वास्थ्य को लेकर सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा।