October 20, 2020

पिछले सीजन की तुलना में 4 टीमों के प्रदर्शन में सुधार हुआ

2 में गिरावट आई और 2 टीमों का खेल पहले जैसा ही रहा

दुबई, (एजेंसी)। आईपीएल-13 का आधा सीजन खत्म हो गया है। सभी 8 टीमों ने अपने 14 लीग मुकाबलों में से 7 मुकाबले खेल लिए हैं। अब सभी टीम का प्रदर्शन पिछले साल की तुलना में देखें तो 4 टीमों के खेल में बढ़ोतरी हुई है। दो में गिरावट जबकि दो टीम के प्रदर्शन में कोई बदलाव नहीं आया है। सबसे ज्यादा गिरावट महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स में देखने को मिला। वहीं विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के प्रदर्शन में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिली है। सबसे ज्यादा रन और सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाडिय़ों की बात करें, तो दोनों के टॉप-5 में 3-3 विदेशी खिलाड़ी हैं। यानी विदेशी खिलाडिय़ों का प्रदर्शन हमारे खिलाडिय़ों की तुलना में अब तक अच्छा रहा है।

पर्पल कैप ताहिर को खेलने का मौका नहीं: लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने पिछले सीजन में सबसे ज्यादा 26 विकेट लिए थे, लेकिन मौजूदा सीजन में उन्हें एक भी मैच खेलने को नहीं मिला है। चेन्नई टीम में शामिल ताहिर ने पिछले सीजन में दो बार 4 विकेट लेने का भी कारनामा किया था। वहीं, पंजाब टीम में शामिल क्रिस गेल को भी अब तक मौजूदा सीजन में खेलने का मौका नहीं मिला है। टी-20 के इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले गेल ने पिछले सीजन के 13 मैच में 41 की औसत से 490 रन बनाए थे।

स्पिन गेंदबाज सबसे कंजूस: अब तक 11 पारियों में 200+ रन बने हैं। इसके बाद भी स्पिनर कंजूस रहे हैं। 15+ ओवर फेंकने वाले गेंदबाजों में ऑफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर (4.9) की इकोनॉमी सबसे कम है। इसके बाद लेग स्पिनर राशिद खान (5.03), बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल (5.05), तेज गेंदबाज आर्चर (6.8) और लेग स्पिनर चहल (7.07) हैं।

तेज रन बनाने के मामले में विदेशी आगे: टी-20 में स्ट्राइक रेट काफी अहम होता है। लीग में 100+ रन बनाने वाले खिलाडिय़ों में विंडीज के कीरोन पोलार्ड का स्ट्राइक रेट सबसे अच्छा है। वे हर 100 गेंद पर 189 रन बनाते हैं। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के डिविलियर्स (185), विंडीज के पूरन (177), ऑस्ट्रेलिया के स्टोइनिस (175) और भारत के सैमसन (164) हैं।