Fri. Mar 22nd, 2019

प्रत्याशियों को लेकर मंथन तेज

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 11 मार्च। लोकसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों को लेकर कसरत तेज कर दी है। प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों पर इन दोनों ही दलों में मुख्य मुकाबला होगा। भाजपा ने पिछले लोकसभा चुनाव में सभी 25 सीटों पर कब्जा जमाया था पर बाद में हुए उपचुनावों में अजमेर और अलवर सीटें उसके हाथ से निकल गई थी। विधानसभा चुनाव के बाद अब हालात बदल गये है और भाजपा के लिए कांग्रेस ने कड़ी चुनौती पेश कर दी है।राज्य की सभी 25 सीटों पर चुनावी घमासान का बिगुल बज गया है। प्रदेश में मुख्य मुकाबले वाले दोनों दलों भाजपा और कांग्रेस में प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया अब अंतिम दौर में है। प्रदेश भाजपा ने अपने मौजूदा 23 सांसदों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया है। भाजपा में उम्मीदवारों को लेकर प्रदेश कोर कमेटी ने अपनी राय भी केंद्रीय नेतृत्व को दे दी है। भाजपा आलाकमान ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से भी प्रत्याशियों को लेकर विचार किया है। केंद्रीय नेतृत्व इस बार प्रदेश में करीब एक दर्जन मौजूदा सांसदों का टिकट काट कर नये चेहरों को मैदान में उतारना चाहता है। भाजपा ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर को राजस्थान की जिम्मेदारी सौंप रखी है। जावडेकर का कहना है कि उम्मीदवारों के बारे में अंतिम फैसला संसदीय बोर्ड करेगा। प्रदेश में स्थानीय स्तर के कार्यकर्ताओं से राय ली जा रही है। प्रदेश भाजपा में रविवार को भी कई बैठकों के दौर चलें। इन बैठकों ंमें प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर ने एकजुटता के साथ चुनावी मैदान में उतरने की अपील कार्यकर्ताओं से की। प्रदेश अध्यक्ष सैनी का कहना है कि कांग्रेस के पास कोई मुददा ही नहीं है। मोदी सरकार ने जनहित में जो कदम उठाये है उससे आम आदमी फिर से भाजपा की सरकार बनाना चाहता है। इसके अलावा देश की सुरक्षा के मुददे पर मोदी सरकार ने जो कदम उठाए है और आतंकवाद को लेकर पाक को करारा जवाब दिया है। इन सबसे आम जनता पूरी तरह से संतुष्ट है। कांग्रेस और विपक्षी दलों को एक बार फिर जनता नकारेगी।

कांग्रेस की आज बैठक
दूसरी तरफ कांग्रेस में भी उम्मीदवारों को लेकर कसरत चल रही है। उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए कांग्रेस की छानबीन समिति की बैठकें सोमवार से दिल्ली में होंगी। इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश अध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट दिल्ली पहुंच गये है। मुख्यमंत्री गहलोत ने पिछले तीन दिन तक पश्चिमी राजस्थान का दौरा कर बाडमेर, जालोर-सिरोही और जोधपुर संसदीय क्षेत्रों का सघन दौरा किया। इस दौरान उन्होंने संभावित उम्मीदवारों को लेकर कार्यकर्ताओं की राय भी जानीं। गहलोत ने कहा कि उम्मीदवार कोई भी हो कार्यकर्ताओं को सिर्फ कांग्रेस को जिताने के मकसद से काम करना होगा।