September 21, 2020

प्रशांत को कई दलों का समर्थन

नीलम जीना

नई दिल्ली, 22 अगस्त। देश की 20 पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं ने बयान जारी कर प्रशांत भूषण के साथ एकजुटता जाहिर की गई है। इसमें दिग्विजय सिंह (कांग्रेस), शरद यादव (लोकतांत्रिक जनता दल), फारूख अब्दुल्ला (नेशनल कांफ्रेंस ), सीताराम येचुरी (सीपीएम), यशवंत सिन्हा (पूर्व केंद्रीय मंत्री), डी.राजा (सीपीआई), देवव्रत विश्वास (एआईएफबी), दीपांकर भट्टाचार्य (सीपीआई- एमएल), सैफुद्दीन सोज (पूर्व केंद्रीय मंत्री), शशि थरूर (सांसद), मनोज झा,सांसद (आरजेडी), दानिश अली,सांसद, पल्लालाल सुराणा (सोशलिस्ट पार्टी,इंडिया), राजू शेट्टी (स्वाभिमानी पक्ष एसडब्ल्यूपी,महाराष्ट्र), जिग्नेश मेवानी (विधायक, गुजरात), किशोर चंद्र देव (पूर्व केंद्रीय मंत्री), शेख अब्दुल रहमान (पूर्व सांसद), सुलेमान सोज (कश्मीर कांग्रेस), उपेंद्र कुशवाहा (आरएलएसपी, बिहार),कमल मोरारका (समाजवादी जनता पार्टी), लो-थुन श्याम गोहियां (गणमुक्ति संग्राम असम), शंभू दयाल बघेल (एलएसपी), दर्शन सिंह खट्टर सीपीआई (एम एल) न्यू डेमोक्रसी के नेता शामिल हैं। यह जानकारी पूर्व विधायक डॉ. सुनीलम ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी। वरिष्ठ नेताओं ने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दो ट्वीट के आधार पर प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी करार दिए जाने पर दुख प्रकट करते हुए इसे लोकतांत्रिक संस्थाओं का क्षरण बताया है। सर्वोच्च न्यायालय एवं सभी संवैधानिक संस्थाओं के प्रति सम्मान और प्रतिबद्धता दोहराते हुए उन्होंने कहा है कि इस फैसले से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और विरोध करने का अधिकार प्रभावित होगा।