September 23, 2020

फिर घट सकती है पीएफ की ब्याज दर-ईपीएफओ जल्द कर सकता है घोषणा

नई दिल्ली, (एजेंसी)। ईपीएफओ की तरफ से एक बार फिर ब्याज दरों में कटौती की जा सकती है। कुछ महीने पहले ही इसकी ब्याज दरों में कटौती की गई थी। ईपीएफओ की ओर से इस पर विचार करने की वजह ये है कि निवेश पर रिटर्न लगातार घट रहा है, जिसके चलते प्रोविडेंट फंड पर दिए जाने वाले ब्याज को घटाने पर विचार किया जा रहा है। बता दें कि यह ब्याज पहले 8.65 फीसदी थी, जिसे मार्च महीने में घटाकर 8.50 फीसदी किया गया और अब फिर से इसे घटाने पर विचार किया जा रहा है। होने वाली है एक अहम बैठक: सूत्रों ने बताया कि ब्याज दरों पर निर्णय लेने के लिए ईपीएफओ का फाइनेंस विभाग, इन्वेस्टमेंट विभाग और ऑडिट कमेटी जल्द ही एक बैठक करने वाले हैं। इसमें ये तय किया जाएगा कि ईपीएफओ कितना ब्याज दर देने की हालत में है। मार्च महीने की शुरुआत में नई ब्याज दर 8.5 फीसदी की घोषणा हुई थी, लेकिन अभी तक उसे वित्त मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिल सकी है। श्रम मंत्रालय इसके बारे में तभी नोटिफाई करेगा, जब वित्त मंत्रालय इसे अपनी मंजूरी दे देता है। कई जगह फंसे हैं ईपीएफओ के पैसे: ईपीएफओ ने 18 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश किया है। इसमें से करीब 4500 करोड़ रुपये दीवान हाउसिंग फाइनैंस कॉरपोरेशन और इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग ऐंड फाइनैंशल सर्विसेज में लगाए गए हैं। इन दोनों को ही भुगतान करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। डीएचएफएल जहां बैंकरप्सी रिजॉल्यूशन प्रॉसेस से गुजर रही हैै।