November 24, 2020

फिर भृृकुटी तान रहा कोरोना

देश में कोरोना के बढते मामलों के बीच कई राज्यों ने फिर सतर्कता बढ़ाने समेत कुछ कदम उठाने का फैसला किया है। दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र में सरकारें जरूरी कदम उठा रही है।

  • प्रदेश में आज से फिर धारा-144

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 21 नवम्बर। राजस्थान में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच गहलोत सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए सभी जिला मजिस्ट्रेट को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने की पॉवर प्रदान कर दी है। गृह विभाग ने सभी जिला मजिस्ट्रेट को परामर्श जारी कर दिया है।

4 लोगों से ज्यादा के एकत्र होने पर रहेगा प्रतिबंध
धारा-144 लागू होने के बाद एक जगह पर 4 लोगों से ज्यादा के एकत्र होने पर प्रतिबंध लग जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना के तेजी से फैल रहे संक्रमण के मद्देनजर लोगों से बड़ी संख्या में एक जगह एकत्र नहीं होने की अपील की है। राज्य सरकार ने यह फैसला जनहित में किया है। गहलोत ने सभी से अपील है कि इसका पालन करें। सरकार बल प्रदर्शन की बजाय चाहती है कि इसका पालन करने में पब्लिक आगे बढ़कर सहयोग करे। किसी जिले में धारा-144 को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है। उसके बाद उस इलाके में यह धारा प्रभावी हो जाती है। किसी इलाके धारा-144 लागू होती है वहां 4 या उससे ज्यादा लोग इक_े नहीं हो सकते। उस क्षेत्र में पुलिस और सुरक्षा बलों को छोड़कर किसी के भी हथियार लाने और ले जाने पर रोक लग जाती ह। लोगों का घर से बाहर घूमना प्रतिबंधित हो जाता है। कोई भी यातायात धारा- 144 लगे रहने तक रोक दिया जाता है।

पॉजिटिव केस की तादाद बढ़ी
उल्लेखनीय है दीवाली के दौरान बाजारों में जबर्दस्त भीड़ उमड़ी थी। उसके बाद कोरोना पॉजिटिव केस आने की तादाद भी बेहताशा बढ़ गई है। गत दो.तीन दिन से प्रदेशभर में औसतन दो से ढाई हजार से बीच कोरोना पॉजिटिव संक्रमित सामने आ रहे हैं।

प्रदेशों में जाएंगी केंद्रीय टीम
नई दिल्ली, 21 नवम्बर (एजेंसी)। देश में कोरोना के बढ़ रहे मामलों के बीच केंद्र सरकार राज्यों में टीम भेज सकती है। चार राज्यों में केंद्रीय टीमें जा चुकी हैं। हरियाणा,मणिपुर, गुजरात और राजस्थान में निगरानी के लिए केंद्र ने टीमें भेजी हैं। केंद्र सरकार अन्य राज्यों में ऐसी ही टीमें भेजने पर विचार कर रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय पहले ही राज्यों को सलाह दे चुका है कि सर्दियों में कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी के बीच जांच की सीमा बढ़ाएं और उन मरीजों की पहचान भी करें जिन्हें अब तक चिन्हित नहीं किया गया है। राज्यों से कहा गया है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग के लिए अभियान चलाएं ताकि ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव मामले पहले ही सामने आ सकें। लंबे समय तक पॉजिटिव मामले पकड़ में ना आने की वजह से संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

क्या होगा केंद्र की टीम का काम
केंद्र सरकार की टीमें उन जिलों का दौरा करेंगी जहां कोविड-19 के अधिक मामले सामने आ रहे हैं ? टीम संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण उपायों, निगरानी,जांच और संक्रमित मामलों के कुशल नैदानिक प्रबंधन के राज्यों के प्रयासों को मजबूत करने की दिशा में सहयोग करेंगी। मंत्रालय ने कहा कि केंद्रीय टीमें समय पर जांच और अन्य संबंधित चुनौतियों का प्रभावी ढंग से प्रबंधन करने के लिए मार्गदर्शन करेंगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली में प्रतिदिन सामने आने वाले नए मामलों और मौतों की संख्या में वृद्धि का प्रभाव हरियाणा और राजस्थान में आने वाले एनसीआर क्षेत्रों में देखा जा रहा है जहां संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। केंद्र के लिए महाराष्ट्र और दिल्ली अब भी चिंता का सबब बने हुए हैं। महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17,63,055 हो गई।