Fri. Aug 7th, 2020

बढ़ा सियासी बवाल

  • टेप कांड पर कांग्रेस और बीजेपी भी आमने- सामने
  • होटल से फुर्र पायलट गुट के विधायक

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 18 जुलाई। प्रदेश की सियासत रोज नए रंग दिखा रही है। पायलट और गहलोत खेमा एक दूसरे पर वार कर रहा है। अब सनसनीखेज ऑडियो टेप सामने आने के बाद राजस्थान कांग्रेस और बीजेपी भी आमने- सामने आ गए हैं। एसओजी टेप के सामने आने के बाद इस मामले में तेजी से इंवेस्टिगेशन में लग गई है। इसके चलते अब पायलट खेम के मुश्किलें बढऩे लगी है। शुक्रवार को एसओजी की टीम मानसर पहुंची, तो उन्हें बागी विधायकों से मिलने जाने नहीं दिया गया। इसके बाद एक घंटे बाद टीम अंदर गई, तो विधायक वहां से नदारद थे। रिपोटर्स की मानें, तो एसओजी की सूचना आने के बाद विधायकों को दूसरे होटल में शिफ्ट किया गया, लिहजा पुलिस को खाली हाथ ही लौटना पड़ा। ऑडियो टेप के सामने के बाद बीजेपी- कांग्रेस भी एक दूसरे को कानूनी पचड़े में फंसाने में लगे हैं।

संजय जैन गिरफ्तार: ऑडियो टेप कांड में भाजपा नेता संजय जैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। राजस्थान में चल रहे राजनीतिक नाटक के बीच राज्य पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने शुक्रवार को संजय जैन को गिरफ्तार किया। पुलिस ने कहा कि संजय जैन को राजस्थान पुलिस के विशेष संचालन समूह (एसओजी) की टीम ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 124 ए और 120 बी के तहत गिरफ्तार किया है।

विधायक भंवरलाल व गजेन्द्र सिंह पर राजद्रोह का केस: राजस्थान कांग्रेस अब बागी विधायकों को लगातार कानूनी प्रक्रिया में फंसाने में लग गई है। ऑडियो टेप सामने आने के बाद मुख्य सचेतक महेश जोशी की ओर से एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें राजद्रोह का आरोप लगते हुए विधायक भंवरलाल और केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र शेखावत के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

शेखावत बोले, जांच को तैयार: इधर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि यह ऑडियो फर्जी है। मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं। विधायक भंवरलाल शर्मा ने भी ऑडियो को फर्जी बताते हुए कहा कि यह सीएम हाउस में तैयार किया गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ओछी हरकत कर रहे हैं। मैं किसी संजय जैन को नहीं जानता हूं।

सुरजेवाला और डोटासरा पर मुकदमा: बीजेपी मामले में सक्रिय दिख रही है। भाजपा ने भी ऑडियो टेप मामले में आक्रामकता दिखाने हुए अब यह कहा है कि मुख्यमंत्री निवास पर फर्जी ऑडियो टेप बनाया गया है।

राष्ट्रपति शासन की मांग: इधर, बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आज सुबह ट्वीट कर राजस्थान में राष्ट्रपति शासन की मांग की है।