November 30, 2020

बाइक चोरी करने के बाद फर्जी नंबर प्लेट लगा सस्ते दामों में बेच देते थे, 6 गिरफ्तार

पुलिस ने पकड़ा अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह, चोरी की 25 बाइकें बरामद, सभी बदमाश भरतपुर के रहने वाले

अलवर, (निसं.)। शहर के शिवाजी पार्क थाना पुलिस ने एक ऐसे अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो भीड़भाड़ वाले इलाकों, पार्कों और घरों के बाहर खड़ी मोटरसाइकिलें चोरी करते थे और बाद में उन पर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर सस्ते दामों में बेचे देते थे। पकड़े गए बदमाशों ने अलवर शहर के कई इलाकों से मोटरसाइकिलें चोरी की वारदातें स्वीकार की हैं। इनसे चुराई गई 25 मोटरसाइकिलें बरामद की गई हैं। पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाशों के नाम 20 वर्षीय शकील, 28 वर्षीय चव्वन हुसैन, 20 वर्षीय बागी उर्फ दिलबाग सिंह रायसिख, 46 वर्षीय हरमेश उर्फ मिच्चू रायसिख, 36 वर्षीय याकूब खां व 18 वर्षीय यशवेंद्र शामिल हैं। एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि जिले में वाहन चोरी की वारदातों की रोकथाम के लिए एएसपी मुख्यालय शिवलाल बैरवा व सीओ सिटी विकास सांगवान के नेतृत्व में शिवाजी पार्क थाना पुलिस, एनईबी व लक्ष्मणगढ़ डीएसटी की संयुक्त टीम गठित की गई थी। दो नवंबर को नाकाबंदी के दौरान टीम ने एक बिना नंबर की बाइक पर सवार 3 संदिग्ध युवकों को चैकिंग के लिए रोका और उनसे बाइक के कागजात मांगे।

कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया
उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। पुलिस आरोपी शकील पुत्र नवाब खां निवासी चिलवाड़ा थाना गोपालगढ़, चव्वन हुसैन पुत्र दीनू खां निवासी सहसन थाना जुरहरा व बागी उर्फ दिलबाग सिंह पुत्र वीर सिंह रायसिख निवासी फुटाकी थाना सीकरी को हिरासत में लेकर थाने लाई। पूछताछ में इन्होंने उक्त बाइक 27 अक्टूबर को तिजारा फाटक स्थित कैनरा बैंक के पास चोरी करने की बात कबूल की।

जुरहरा थाना क्षेत्र के सहसन गांव में बेच देते थे
बदमाशों ने बताया कि वे अलवर शहर के विभिन्न स्थानों से बाइक चोरी कर भरतपुर जिले के जुरहरा थाना क्षेत्र के सहसन गांव में बेच देते थे। इसके बाद पुलिस की टीम ने सहसन में दबिश देकर गिरोह के हरमेश उर्फ मिच्चू पुत्र सूरत सिंह रायसिख, यशवेंद्र सिंह पुत्र बोडसिंह रायसिख व याकूब पुत्र दीन खां को गिरफ्तार कर लिया।

जांच की प्रक्रिया जारी
तीनों सहसन के रहने वाले हैं। एसपी ने बताया कि बदमाशों ने जयपुर ग्रामीण, हरियाणा व उत्तरप्रदेश के विभिन्न जिलों से भी बाइक चोरी की वारदात करना कबूल किया है।  पुलिस आरोपियों का संबंधित थानों से आपराधिक रिकॉर्ड एकत्र करने में जुटी है।