Tue. Jun 18th, 2019

बालश्रम उन्नमूलन के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं आगे आएं : गहलोत

  • कैनवास पर हस्ताक्षर व गुब्बारे उड़ाकर बालश्रम मुक्त राजस्थान अभियान का किया शुभारम्भ
  • मुख्यमंत्री निवास पर आठ साहसी बच्चे हुए सम्मानित

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 13 जून। विश्व बालश्रम निषेध दिवस पर कलम थामने कीे उम्र वाले हाथ चुडियां बनाने, घरों में वर्तन माजने वाले, नगीनों की घीसाई कर अगुलियां लहुलूहान करने वाले बच्चे बालश्रम से मुक्त होकर शिक्षा की कलम पकडऩे की हसरत लिए हुए मुख्यमंत्री निवास पर चहचहाते हुए प्रफुल्लित दिखे। पिंकसिटी रिक्षा चालक संस्था द्वारा आयोजित बालश्रम मुक्त राजस्थान 12 जून से 2 अक्टूबर तक चलने वाले हस्ताक्षर अभियान का शुभारम्भ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कैनवास पर हस्ताक्षर व गुब्बारे उड़ाकर किया। अपने उद्बोधन में कहा कि बालश्रम को अभिशाप बताते हुए सभी बच्चों को पढऩे के अधिकार से वंचित करना उनके अधिकारों का हनन है। अपने पूर्व कार्यकाल में पानी बचाओ-विजली बचाओ-सबको पढ़ाओ नारे का उल्लेख करते हुए सर्व प्रथम शुरूआत के अनुभवों को साझा किया। विशेष परिस्थितियों में रहने वाले बच्चों के लिए अलग से शिक्षा की व्यवस्था पर जोर दिया। बाल शिक्षा आश्रम के प्रयासों की सराहना की। राजस्थान की गांव ढाणी स्तर तक सघन अभियान चलाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सभी बच्चों को जीने, पढऩे, खेलने का अधिकार दिलाना अकेले सरकार के बस की नहीं है। इसके लिए स्वयं सेवी संगठनों को भी आगे आना होगा। मुख्यमंत्री के सम्मुख विपरित परिस्थितियों में रहते हुए अपना बाल विवाह रूकवाकर शिक्षा से अपनी पहचान बनाने में लगी प्रीति वर्मा, सुनीता सैनी, गायत्री महावर, शमा परवीन, सविधा राजवंश, तन्नू, खुशबू, कल्याणी ने आपबीती सुनाई, गहलोत ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। पुस्तक का किया विमोचन : संस्था के संयोजन में बाल संरक्षण विशेषज्ञ गोविन्द बेनीवाल द्वारा बालश्रमिकों के मुद्दों पर लिखी पुस्तक शोषण से शिक्षा की ओर बढ़ते कदम पुस्तिका का विमोचन किया। कई स्वयं सेवी संगठनों, राजस्थानी सिनेमा विकास संघ द्वारा बजट घोषण पत्र में सामिल करने के लिए सुझाव मुख्यमंत्री को सौपा। समारोह में विधायक महादेव सिंह खण्डेला, पूर्व मंत्री मांगीलाल गरासिया, जयपुर कलक्टर जगरूप सिंह यादव, बाल अधिकारिता विभाग के निदेशक निष्काम दिवाकर, बाल कल्याण समिति जयपुर के अध्यक्ष नरेन्द्र सिखववाल, पीसीसीआरसीएस के सचिव विपिन तिवारी, फ्रीडम फण्ड से रवि प्रकाश, दिनेश कुमार, गांधी मानव कल्याण सोसाईटी, मदन नागदा, टाबर संस्था से राकेश शर्मा, इण्डो विजन सोसाईटी से अजय कुमार, आर.आई.एच.आर के विजय गोयल, चाइल्ड लाइन के वर्षा जोशी एवं एलईडीएस के प्रतिनिध, राजस्थानी सिनेमा विकास संघ के अध्यक्ष शिवराज गुर्जर, दीपक मीणा, संगीता चौधरी सहित कई गणमान्य उपस्थित थे।

——————–