November 23, 2020

बिहार चुनाव : दूसरे चरण में तेजस्वी, तेजप्रताप समेत नीतीश के 3 मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

पटना, 31 अक्टूबर (एजेंसी)। बिहार विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण की वोटिंग 3 नवंबर को है। इस फेज में 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान होना है, जिसके लिए 1464 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इस चरण में पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सिवान, सारण, वैशाली, समस्तीपुर, बेगूसराय, खगडिय़ा, भागलपुर, नालंदा और पटना जिले की विधानसभा सीटें शामिल है। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के लिए बिहार विधानसभा चुनाव का दूसरा चरण बेहद महत्वपूर्ण है। इस चरण की 94 सीटों में से 2015 चुनाव में करीब एक तिहाई पर राजद ने जीत दर्ज की थी। इस फेज में महागठबंधन की ओर से राजद 56 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। इन 56 सीटों में 31 सीटिंग सीटें हैं।
राजद के प्रमुख चेहरों की साख दांव पर: इस फेज के इलेक्शन में राजद के कई प्रमुख चेहरों की प्रतिष्ठा दांव पर है। इसी चरण में महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के चेहरे तेजस्वी यादव वैशाली के राघोपुर से तो पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव समस्तीपुर के हसनपुर से चुनावी मैदान में हैं। वहीं कई बाहुबलियों और उनके परिवारजनों साख भी दांव पर लगी है।

बाहुबलियों के बल की भी होगी परीक्षा: प्रधान महासचिव आलोक कुमार मेहता उजियारपुर से राजद प्रत्याशी हैं. जबकि पूर्व सांसद और युवा राजद के अध्यक्ष शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल बिहपुर सीट से मैदान में हैं। राजद ने जिन बाहुबलियों या परिवारजनों को चुनाव मैदान में उतारा है, उनमें से अधिकांश के भाग्य का फैसला भी इसी चरण में होना है। इनमें रीतलाल यादव का है, जो पटना की दानापुर सीट से राजद प्रत्याशी हैं।

सहरसा से लवली आनंद लड़ रहीं चुनाव: पूर्व सांसद आनंद मोहन के बेटे चेतन आनंद शिवहर सीट से मैदान में हैं। पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के बेटे बेटे रंधीर कुमार सिंह छपरा से और भाई केदारनाथ सिंह बनियापुर से लड़ रहे हैं जबकि पूर्व सांसद रामा सिंह की पत्नी बीना सिंह वैशाली की महनार सीट से भाग्य आजमा रही हैं।

पिछले चुनाव में सीटों का यह था समीकरण: 2015 के विधानसभा चुनाव में इन 94 विधानसभा सीटों में से 29 सीट जेडीयू को मिली थी, जबकि आरजेडी 31 सीटें जीतने में कामयाब रही थी। बीजेपी को 19, कांग्रेस को 6, सीपीआई को एक, एलजेपी को एक और दो निर्दलीय विधायक जीते थे। पिछले चुनाव में महागठबंधन ने 65 सीटों पर जीत हासिल की थी। हालांकि, चंपारण इलाके में महागठबंधन पर बीजेपी भारी पड़ी थी और एकतरफा जीत दर्ज की थी।

नीतीश के तीन मंत्री भी हैं चुनावी मैदान में: नीतीश सरकार के तीन मंत्रियों की भी साख दांव पर होगी। इनमें मधुबन सीट से बीजेपी विधायक व सहकारिता मंत्री राणा रंधीर, गौड़ा बोराम से जेडीयू व मंत्री विधायक मदन सहनी और पटना साहिब से बीजेपी विधायक व मंत्री नंद किशोर यादव हैं। इस प्रकार दो मंबी भाजपा और एक मंत्री जदयू कोटे से मैदान में है। इन सभी के भाग्य का फैसला मतदाता तीन नवम्बर को कर देंगे।