October 25, 2020

बीजेपी के हाईटेक रथों पर छाए शिवराज, ‘महाराज’ नदारद

भोपाल, 15 अक्टूबर (एजेंसी) । मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में प्रचार के लिए बीजेपी ने भोपाल से रथ रवाना किए। ये हाईटेक रथ हैं जो उप चुनाव वाले इलाकों में मोदी और शिवराज सरकार की नीतियों का गुणगान करेंग। गौर करने वाली बात ये है कि इन रथों में सिर्फ शिवराज और वीडी शर्मा का फोटो है मगर जिन महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया की वजह से प्रदेश में कमलनाथ सरकार गिरी और बीजेपी सरकार बनी, उन्हीं सिंधिया का फोटो रथ में नहीं लगाया गया है. उपचुनाव वाली सीटों पर जनता से सीधे संपर्क बनाने के लिए बीजेपी ने 28 वीडियो रथ रवाना किए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने झंडी दिखाकर रथों को उनके विधानसभा इलाकों के लिए रवाना किया लेकिन इन वीडियो रथों पर कहीं भी ज्योतिरादित्य सिंधिया का फोटो नहीं था। कुछ दिन पहले सोशल मीडिया में सिंधिया का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह खुद को ग्वालियर का महाराज बताते नजर आए हैं। कांग्रेस ने वीडियो रथ पर सिंधिया का फोटो न होने पर तंज कसा है. पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा जो वीडियो रथ रवाना किए गए हैं वो ग्वालियर चंबल के 16 विधानसभा क्षेत्रों में बीजेपी सरकार और प्रत्याशियों का प्रचार करेंगे। ग्वालियर चंबल सिंधिया के प्रभाव वाला इलाका है लेकिन उसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा नहीं होगा।
इससे ये पता चलता है कि बीजेपी ने अभी तक सिंधिया को मन से नहीं अपनाया है। वर्मा ने कहा सिंधिया को बीजेपी में उनकी हैसियत पर विचार करना चाहिए। बीजेपी सिंधिया को लगातार आईना दिखा रही है। वीडियो रथ में भी सिंधिया का फोटो ना रख कर एक बड़ा संदेश दे दिया गया है।

शिवराज ने दी सफाई
वही वीडियो रथ से ज्योतिरादित्य सिंधिया की फोटो नदारद होने के सवाल पर सीएम शिवराज ने कहा, ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा के सम्मानीय नेता हैं। सिंधिया ने अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ी और बीजेपी के नेता होने के नाते हमारी टीम के अभिन्न अंग हैं। उनके साथ मिलकर चुनाव लडऩे की रणनीति बन रही ह। सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा,सिंधिया इतने साल तक कांग्रेस में रहे। कांग्रेस के कुकर्म के कारण सरकार गिराई तो सिंधिया बुरे हो गए।